Follow us:

बेस्ट थाना प्रभारी का अवार्ड पाने वाले SI ने ऐसे ली रिश्वत

दुर्ग। स्वतंत्रता दिवस पर जिले के प्रभारी मंत्री के हाथों बेस्ट थाना प्रभारी का अवार्ड पाने वाले कुम्हारी थाना में पदस्थ उप निरीक्षक चार हजार रुपये रिश्वत लेने का आरोप लगा है। राशि लेते कैमरे में कैद वीडियो वायरल किया गया है। ट्रांसपोर्टर ने उप निरीक्षक का पैसा लेते हुए वीडियो बनाया है। मामले की शिकायत एसपी से की गई है। एसपी ने जांच के निर्देश दिए हैं। सुपेला थाना अंतर्गत कोहका भिलाई निवासी सुखवंत सिंह ने गुरुवार को पत्रकार वार्ता में इस मामले का खुलासा किया।

सुखवंत ने बताया कि वह गहोतरा ट्रांसपोर्ट नागपुर की गाड़ियों की छत्तीसगढ़ में देख रेख करता है। 24 अक्टूबर 2019 को गाड़ी क्रमांक-एमएच-40 बीजी-8917 जिसका ड्राइवर विनोद धुर्वे रायपुर से माल भरकर नागपुर के लिए रवाना हुआ था। गाड़ी कुम्हारी चौक पार कर डीएमसी फैक्ट्री के पास पहुंची थी। 

इस दौरान पीछे से आ रही एक तेज रफ्तार कार ने पहले जायलो गाड़ी, फिर पीसीआर गाड़ी और उसके बाद उसकी गाड़ी को ठोकर मार दी। मौके पर पहुंची पुलिस ड्राइवर विनोद धुर्वे को कुम्हारी थाना ले गई जहां उप निरीक्षण प्रकाश शुक्ला ड्यूटी पर थे। प्रकाश ने सुखवंत से उसके मोबाइल पर बात की और थाने पहुंचने कहा। दो घंटे के भीतर थाना नहीं पहुंचने पर गाड़ी के खिलाफ बड़ा अपराध दर्ज करने की धमकी दी।

सुखवंत के मुुताबिक वह दो घंटे बाद थाने पहुंचा जहां कार चालक व उसके साथी बैठे हुए थे। सुखवंत ने आरोप लगाया कि उप निरीक्षक प्रकाश शुक्ला ने उनकी गाड़ी छोड़ने के एवज में पहले 60 हजार फिर 40 हजार रुपये की डिमांड की।

सुखवंत ने इतने पैसे देने से मना किया तो उप निरीक्षक ने धाराएं बढ़ाकर ड्राइवर को जेल भेजने की धमकी दी और गाड़ी थाने में खड़ा करवा लिया। 30 अक्टूबर को ड्राइवर ने सुखवंत को फोन कर कहा कि थानेदार शुक्ला आपको थाना बुला रहे हैं।

सुखवंत के थाना पहुंचने पर प्रकाश शुक्ला ने कहा कि उसी दिन सेवा पानी कर देते तो आपकी गाड़ी को थाने से उसी समय छोड़ देते। सुखवंत ने बताया कि थानेदार ने कहा कि उसकी फीस पांच हजार रुपये है। इतनी रकम दे दोगे तो आपकी गाड़ी अभी छोड़ दूंगा। सुखवंत ने बताया कि मजबूरी में प्रकाश शुक्ला को चार हजार रुपये देने पड़े।

सुखवंत ने बताया कि गाड़ी सात दिन से खड़ी हुई थी जिसमें भरा हुआ मुर्गी दाना पानी पड़ने से खराब हो रहा था। सुखवंत ने पत्रकारवार्ता में वीडियो क्लीपिंग भी दिखाया और मीडिया को उक्त क्लीपिंग उपलब्ध कराया। सुखवंत ने बताया कि इस पूरे मामले की लिखित शिकायत गुरुवार को दुर्ग पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर की गई है। एसपी को भी वीडियो उपलब्ध कराया गया है। मामले में एसपी ने जांच के निर्देश दिए हैं। प्रकरण की जांच सीएसपी छावनी करेंगे।