Follow us:

BCCI के नए करार के बाद एक साल में इतना कमा लेंगे विराट

मुंबई। भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली पर धन वर्षा जारी है। बीसीसीआई के नए केंद्रीय अनुबंध में उन्हें 'ए प्लस' ग्रेड में रखा गया है और इसके तहत उन्हें रिटेनरशिप के 7 करोड़ रुपए मिलेंगे। क्रिकेट के अलावा यदि विज्ञापनों से होने वाली आमदनी को भी ध्यान में रखे तो विराट की प्रतिवर्ष आमदनी करीब 150 करोड़ रुपए हो जाती है।

कोहली को पिछले साल अनुबंध के तहत 2 करोड़ रुपए मिलते थे और इस साल इस राशि में 5 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ। कोहली वैसे भी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी हैं। उन्हें रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर (आरसीबी) ने 17 करोड़ रुपए में अपने पास रिटेन किया था।

ऐसा नहीं है कि कोहली को सिर्फ क्रिेकेट से ही कमाई होती है। उनकी ब्रांड वेल्यू में भी पिछले एक साल में जबर्दस्त वृद्धि हुई है। दिसंबर 2017 में डफ एंड फेल्प्स द्वारा प्रकाशित मोस्ट वेल्यूएबल सेलिब्रिटी ब्रांड्‍स की रिपोर्ट में वे देश के सबसे महंगे ब्रांड बने थे। उनकी ब्रांड वेल्यू में 56 प्रतिशत का इजाफा हुआ था और वे 144 मिलियन डॉलर (936 करोड़ रुपए) के साथ भारत के सबसे महंगे ब्रांड बन गए थे।

फोर्ब्स की 2017 की लिस्ट में भी कोहली ने स्टार फुटबॉलर लियोनेल मैसी और गोल्फर रोरी मैक्लरॉय को पीछे छोड़ दिया था। वे 14.5 मिलियन डॉलर ब्रांड वेल्यू के साथ ‍दुनिया के टॉप खिलाड़‍ियों में सातवें स्थान पर थे।

अक्टूबर 2017 तक की जानकारी के अनुसार कोहली 20 ब्रांड को एंडोर्स कर रहे थे, इनमें मान्यवर, ऑडी, एमआरएफ, टिसोट, जियोनी, पूमा, बूस्ट, कोलगेट और विक्स शामिल थे। 2017 के फोर्ब्स स्पोर्ट्‍स मनी इंडेक्स के अनुसार कोहली क्रिकेट के अलावा करीब 19 मिलियन डॉलर (123 करोड़ रुपए) विज्ञापनों के जरिए प्राप्त कर रहे हैं। क्रिकेट के अलावा यदि विज्ञापनों से होने वाली आमदनी को भी ध्यान में रखे तो विराट की प्रतिवर्ष आमदनी करीब 150 करोड़ रुपए हो जाती है।

विराट ने इसके अलावा कई जगहों पर पैसा लगा रखा है। उनका पैसा क्लोदिंग रेंज रॉन में लगा हुआ है। इसके अलावा वे इंडियन सुपर लीग टीम एफसी गोवा के सहमालिक भी हैं। इसके अलावा जिम की चेन 'चिजल' में भी उनका पैसा लगा हुआ है। रिपोर्ट्‍स के मुताबिक उन्होंने कथित तौर पर इसमें 90 करोड़ रुपए लगाया हुआ है।