Follow us:

KGB के सार्वजनिक किए दस्तावेजों से हुआ खुलासा- कर्तव्य निष्ठ और अनुशासित जासूस थे पुतिन

मॉस्को। रूस के राष्ट्रपति बनने से पहले पुतिन देश की खुफिया एजेंसी केजीबी के लिए काम करते थे। अब सार्वजनिक किए गए केजीबी के दस्तावेजों के अनुसार, अब 67 साल के हो चके पुतिन अपने करियर की शुरूआत में कर्तव्य निष्ठ और अनुशासित जासूस थे। हालांकि, सोवियत संघ के जासूस के रूप में उन्होंने क्या काम किए थे, इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं पता है। मगर, दस्तावेजों में कहा गया है कि कॉमरेड पुतिन ने लगातार अपने वैचारिक, राजनीतिक और पेशेवर स्तर को बढ़ाया है।

सार्वजनिक किए गए दस्तावेजों के अनुसार, युवा पुतिन को अपने अच्छी तरह से व्यवस्थित कार्य और नतीजों के लिए केजीबी के अपने वरिष्ठ अधिकारियों से बधाई भी मिली थी। साल 2016 में पुतिन ने खुलासा किया था कि वह भावनात्मक कारणों की वजह से अपना यूएसएसआर कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्यता कार्ड को अपने पास रखते हैं। वह करीब दो दशकों से राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री के रूप में सत्ता में बने हुए हैं।

पुतिन की तारीफ में ये बातें केजीबी में उनके सीनियर अधिकारियों ने लिखी थीं। उस वक्त पुतिन की उम्र महज 20 साल थी। यह जानकारी रूसी मीडिया को जारी एक दस्तावेज में दी गई है। बताते चलें कि पुतिन ने 1970 के दशक के मध्य से गुप्त सेवा के लिए काम करना शुरू किया था और 1985 में 1990 तक पूर्वी जर्मनी के ड्रेसडेन में वह तैनात थे। उस समय सोवियत सत्ता चरमरा रही थी। उनके कई पूर्व सहयोगी वर्तमान में रूसी सरकार के महत्वपूर्ण पदों पर काम कर रहे हैं।

क्रेमलिन में पुतिन ने अपने चारों तरफ गुप्तचर सेवा केजीबी के पूर्व कर्मचारियों के अलावा अपने उत्तराधिकारी एफएसबी के अधिकारियों को भी तैनात कर रखा है, जो वर्तमान में एक शक्तिशाली एजेंसी बनी हुई है।

Related News