Follow us:

लापरवाही से फेसबुक चलाना महिलाओं को डाल रहा परेशानी में

ग्वालियर। यदि आपकी फेसबुक पर आईडी है और आप उसे लापरवाही से चलाते हैं। किसी से भी आईडी का लॉगिन पासवर्ड शेयर करने की आदत है। अनजान लोगों को फ्रेंड बना रखा है तो यह लापरवाही आपको महंगी भी पड़ सकती है। फेसबुक पर ठगी से लेकर ब्लैकमेलिंग का जाल बुनने वाले कभी भी आपकी डिटेल यूज कर फेक आईडी बना सकते हैं। ऐसा भी हो सकता है कि आपकी आईडी को ही हैक कर उसका उपयोग किसी और को फंसाने के लिए कर लें। क्योंकि बीते एक महीने में 12 ऐसे मामले सामने आए हैं जिनमें शातिर दिमाग ने महिलाओं, छात्राओं के फेसबुक से फोटो, नाम व अन्य डिटेल यूज कर फेक आईडी बनाकर उन्हीं को बदनाम करना शुरू कर दिया।

बीते एक महीने में राज्य सायबर सेल, पुलिस अधीक्षक कार्यालय ग्वालियर, क्राइम ब्रांच सहित शहर के थानों में 12 शिकायतें आई हैं। जिनमें महिलाओं, छात्राओं के मोबाइल नंबर से लेकर फोटो व नाम का उपयोग कर उन्हें उनके ही रिश्तेदारों व दोस्तों को अश्लील पोस्ट व फोटो भेजकर बदनाम किया गया हो। ज्यादातर मामलो में शादीशुदा महिलाओं के फेसबुक अकाउंट को ज्यादा हैक किया गया है। कुल शिकायतों में से 70 फीसदी मामलों में आरोपी पकड़े भी जा चुके हैं। यह तो बीते महीने की बात है। पर पिछले पांच वर्षों में प्रति वर्ष इस तरह के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। एक साल में एक सैकड़ा के लगभग इस तरह की शिकायतें पुलिस तक पहुंचती हैं।


58 प्रकार की शराब, 22 तरह की सिगरेट और 12 बीड़ी ब्रांड से सजा भैरव दरबार
यह भी पढ़ें

35 से 40 साल की महिलाएं ज्यादा शिकार

आजकल मोबाइल हर किसी के हाथ की शोभा बढ़ा रहा है। 35 से 40 साल की ऐसी घरेलू व कामकाजी महिलाएं जो टेक्नोलॉजी को आज की पीढ़ी की अपेक्षा कम समझती हैं। वह भी फेसबुक, वॉटसएप व अन्य मैसेंजर सर्विस पर अपनी आईडी बनाकर सोशल मीडिया पर हैं। पिछले कुछ दिनों में आई शिकायतों में इस तरह की महिलाओं के साथ फेक आईडी के मामले ज्यादा दर्ज हुए हैं।

इस तरह से आई हैं शिकायतें

केस-1

हाल ही में राज्य सायबर सेल की ग्वालियर में एक मामला आया था। जिसमें एक छात्रा के नाम से किसी ने फेक आईडी बनाकर उसे बदनाम करने के लिए उसके और पूर्व बॉयफ्रेंड के अश्लील फोटो शेयर कर दिए। छात्रा की शिकायत के बाद टीम ने जल्द ही आरोपी की पहचान कर उसके घर तक पहुंच गई। आरोपी भी झांसी निवासी बीकॉम की छात्रा निकली। जो पीड़िता के एक्स बॉयफ्रेंड की वर्तमान में गर्लफ्रेंड है। उसके मोबाइल में एक्स गर्लफ्रेंड के फोटो देखकर ऐसा किया था।

केस-2

कुछ दिन पहले क्राइम ब्रांच के पास एक 21 वर्षीय छात्रा ने शिकायत की थी कि उसके दोस्तों से उसे पता लगा कि उनके नाम से एक नई आईडी फेसबुक पर है। जिससे लोगों को अश्लील पोस्ट डाले जा रहे हैं। क्राइम ब्रांच ने 10 दिन के अंदर विजयपुर से एक आरोपी को पकड़ा। जिसने 7 महिलाओं या लड़कियों की इस तरह फेक आईडी बनाकर ब्लैकमेल करने की बात कबूली। उसे ऐसा करना अच्छा लगता था। उसने फेसबुक पर सर्च कर डिटेल उठाई थी।

यह रखें सावधानी

- यदि आप फेसबुक चलाते हैं तो अपनी पर्सनल डिटेल शेयर न करें।

-फेसबुक पर कहीं भी अपना मेल एड्रेस व मोबाइल नंबर शेयर न करें।

-किसी भी अनजान की फ्रेंड रिक्वेस्ट को स्वीकार न करें।

- अनचाहे पोस्ट या फोटो पर लाइक बिल्कुल भी न करें।

- कभी किसी के मोबाइल में अपना फेसबुक लॉगिन न करें।

सतर्क रहने की जरूरत है

फेसबुक, वॉटसएप का उपयोग करते समय सतर्क रहना चाहिए। अपने मोबाइल नंबर, मेल एड्रेस किसी के साथ भी शेयर न करें। सावधानी से इस तरह की घटनाओं को टाला जा सकता है- नवनीत भसीन, एसपी