Follow us:

WhatsApp ने किया Group Privacy फीचर में अपडेट, किसी भी ग्रुप में आपको हर कोई नहीं कर सकेगा एड

मल्टीमीडिया डेस्क। इंस्टेंट मैसेजिंग सर्विस WhatsApp ने इसी साल अप्रैल महीने में ग्रुप प्राइवेसी फीचर लाने की घोषणा की थी और इसके बाद आखिरकार अब यह जारी भी हो गया है। हाल ही में फेसबुक के मालिकाना हक वाली कंपनी ने इसे एंड्रायड और iOS यूजर्स के लिए जारी करना शुरू किया है और इसके बाद अब आपकी प्राइवेसी और मजबूत हो जाएगी। इस फीचर के आने के बाद अब आप उन अनचाहे ग्रुप्स से बच सकेंगे जिनमें आपको बेवजह जोड़ा जाता है।

WhatsApp Group privacy Feature में अपडेट लेकर आ रही है। इस फीचर के आने के बाद कोई भी यूजर को उसकी मंजूरी के बिना व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड नहीं कर सकेगा। हालांकि, कंपनी ने पहले की बजाय इसे एक अपडेट के साथ जारी किया है जिसमें अब यूजर को यह विकल्प मिलेंगे कि वो किस नंबर को ब्लैकलिस्ट करता है और किसे नहीं। मसलन, पहले इसमें ऑप्शन था कि कोई भी यूजर को ग्रुप में नहीं जोड़ सकेगा लेकिन अब इसमें विकल्प मिल रहे हैं। WhatsApp द्वारा यह फीचर भारत में लॉन्च किए जाने के बाद अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी टेस्ट किया जा रहा है।

भले ही यह अपडेट आ गया हो लेकिन आप अपने परिचितों को पहले की ही तरह ग्रुप में जोड़ सकेंगे लेकिन उन लोगों को बिना उनकी मंजूरी नहीं जोड़ पाएंगे जो नए हैं और आपको नहीं जानते। अब तक यूजर्स को बिना उनकी मर्जी के किसी भी ग्रुप में जोड़ लिया जाता था। हालांकि, उनके पास यह सुविधा थी कि वो ग्रुप में शामिल किए जाने के बाद इससे बाहर हो सकते थे। लेकिन अब इस फीचर आने के बाद यूजर्स आसानी से तय कर पाएंगे कि उन्हें ग्रुप में जोड़ा जाय या नहीं।

यूं करें इस फीचर को एक्टिवेट

- WhatsApp के इस नए फीचर को एक्टिवेट करने के लिए यूजर को सेटिंग्स में जाना होगा।

- यहां उसे तीन विकल्पों 'nobody', 'my contacts' या फिर everyone में से विकल्प चुनना होगा।

- nobody चुनने पर यूजर को कोई भी किसी भी ग्रुप में शामिल नहीं कर सकेगा और उसे किसी भी ग्रुप में शामिल करने से पहले अनुमित लेनी होगी।

- वहीं My Contacts को चुनने पर यूजर को उसके कॉन्टेक्ट लिस्ट में शामिल लोग उसे किसी भी ग्रुप में जोड़ सकेंगे

- जबकि तीसरा विकल्प चुनने पर उसे कोई भी ग्रुप में जोड़ सकेगा।

- यूजर को ग्रुप में शामिल करने वाले को उसे मैसेज भेजना होगा जो की केवल यूजर को मिलेगा। यूजर के पास तीन दिन होंगे कि वो इस मैसेज पर प्रतिक्रिया दे सके। अगर वो इसे मंजूर नहीं करता तो यह मैसेज खुद एक्सपायर हो जाएगा।

- व्हाट्सएप के इस नए फीचर के चलते यूजर को ज्यादा प्राइवेसी और ग्रुप्स पर कंट्रोल करने की ताकत मिलेगी।

 

Related News