Follow us:

भोपाल-बिलासपुर ट्रेन लेकर आईं महिला स्टाफ का जोरदार स्वागत

सागर। महिला दिवस पर महिलाओं को विशेष सम्मान देने रेलवे ने महिला स्टाफ से ट्रेन चलवाई। भोपाल-बिलासपुर ट्रेन लेकर महिला स्टाफ बीना तक आया। स्टेशन पर महिला स्टाफ का जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर लोको पायलट कुमारी नूतन ने जीवन का सबसे अच्छा अनुभव बताया। सहायक लोको पायलट कुमारी संगीता ने इसे महिलाओं के सम्मान में अच्छी पहल बताया। गार्ड वंदना चतुर्वेदी और आरपीएफ स्टाफ से महिला सशक्तिकरण पर अपने विचार रखे।

ट्रेन में लोको पायलट, सहायक लोको पायलट, गार्ड से लेकर चेकिंग स्टॉफ और यात्रियों की सुरक्षा का जिम्मा आरपीएफ महिला जवानों के भरोसे रहा। भोपाल रेल मंडल व जबलपुर जोन के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब किसी ट्रेन में पूरा स्टॉफ महिला कर्मचारियों का हुआ।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर रेलवे में महिला शक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए यह नवीन पहल की गई है। आमतौर पर ट्रेन में चलने वाले कुल 100 फीसदी स्टॉफ में 2 से लेकर 5 फीसदी ही महिलाएं होती है। खासकर कभी भी ट्रेन ऑपरेटिंग की पूरी कमान महिलाओं को नहीं दी जाती।

नूतन होंगी लोको पायलट

भोपाल-बिलासपुर एक्सप्रेस सुबह 8 बजे भोपाल से बिलासपुर के लिए चली। जिसमें नूतन लोको पायलट रहीं। नूतन भोपाल रेल मंडल की पहली लोको पायलट हैं। सहायक लोको पायलट कुमार संगीता रहीं। जबकि गार्ड वंदना चर्तुवेदी होंगी, जो मंडल की पहली महिला गार्ड हैं। इसके अलावा यात्रियों की सुरक्षा के लिए आरपीएफ महिला सब इंस्पेक्टर संध्या रावत, कांस्टेबल ज्योति यादव व गीता रस्तोगी मौजूद थीं। टिकट चेकिंग जहांआरा व कुमारी गीता यादव ने की।

ट्रेन में तकनीकी सहायता के लिए सहायक यांत्रिकी इंजीनियर स्मृति राव व सहायक विद्युत इंजीनियर सामान्य कावेरी गुप्ता। ये सभी महिला कर्मचारी भोपाल रेल मंडल की हैं।