Follow us:

देसी शॉर्ट वीडियो मेकिंग प्लेटफॉर्म Trell ने छुआ 45 मिलियन से ज्यादा डाउनलोड का आंकड़ा

नई दिल्ली। पिछले महीने 29 जून को भारत सरकार द्वारा TikTok समेत 59 चीनी ऐप्स को बैन करने के आदेश के बाद से देसी ऐप्स की डिमांड तेजी से बढ़ी है। खास तौर पर सोशल और लाइफस्टाइल ऐप्स की डिमांड में ये इजाफा देखा गया है। इन देसी ऐप्स के डेली एक्टिव यूजर्स भी बढ़े हैं। Roposo, Shrechat, Mitron, Chingari समेत कई शॉर्ट वीडियो मेकिंग सोशल लाइफस्टाइल प्लेटफॉर्म को लोग TikTok के रिप्लेसमेंट के तौर पर डाउनलोड कर रहे हैं। वहीं, Elyments जैसे देसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को भी लॉन्च किया गया। एक और देसी शॉर्ट वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म Trell ने भी माइक्रोब्लॉगिंग ऐप्स Twitter और Pinterest को पीछे छोड़ दिया है।

इस ऐप के अब डेली 5 मिलियन से ज्यादा एक्टिव यूजर्स हैं। फ्री लाइफस्टाइल ऐप्स की कैटेगरी में #1 पर ट्रेंड करते हुए, प्लेटफॉर्म में एक ही दिन में 4 लाख से ज्यादा नए कंटेंट क्रिएटर्स जोड़े हैं। साथ ही, इस प्लेटफॉर्म पर 1.2 मिलियन नए कंटेंट अपलोड किए गए। Trell को भारत में वीडियो पिन्ट्रेस्ट के तौर पर जाना जाता है। इस ऐप में यूजर्स को स्वास्थ्य और फिटनेस, सौंदर्य और स्किनकेयर, यात्रा, फिल्म समीक्षा, खाना पकाने, घर की सजावट और कई अन्य श्रेणियों में अपने अनुभव, सिफारिशों और समीक्षाएं साझा करने की सुविधा देता है।

इसके अलावा इस प्लेटफॉर्म पर यूजर्स वीडियो ब्लॉगिंग के जरिए अपनी मूल भाषा में 3-5 मिनट के वीडियो बनाने की अनुमति देता है, जिसमें एक 'शॉप' फीचर भी है जिसके जरिए यूजर्स ब्लॉग में प्रदर्शित उत्पादों को खरीद भी सकते हैं। इसके अलावा, इस प्लेटफॉर्म के जरिए यूजर्स को कई तरह के पेड बेनिफिट्स भी मिलते हैं। इस ऐप को 2017 में लॉन्च किया गया था। लॉन्च के बाद से Trell देश भर में अपनी मातृभाषा में बात करने वाले उपभोक्ताओं की लाइफस्टाइल कंटेंट की जरूरतों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस ऐप के 60% से ज्यादा यूजर्स टियर-2 और टियर-3 शहरों से आते हैं। Trell ने हाल ही में अपने प्लेटफार्म में तीन नई भाषाएं जोड़ी है-मराठी, कन्नड़ और बंगाली। यानि अब यह कुल 8 भाषाओं (इसके अलावा, हिंदी, अंग्रेजी, तमिल, तेलुगु, मलयालम) में उपलब्ध है।