Follow us:

अफगानिस्तान हमले पर राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा - जिन लोगो ने भी यह करतूत को अंजाम दिया, उन्हें सजा भुगतनी पडेंगी, अब तक एक लाख से अधिक लोगो को निकालने में सफल रहे

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बायडेन ने कहा है कि अफगानिस्तान में असाधारण खतरे और जोखिम के बाद भी हम कुछ कुछ ही दिनों में 100,000 से अधिक लोगों को निकालने में सफल रहे। उन्होंने कहा कि हम अपने मिशन को पूरा कर सकते हैं और हम आतंकियों से डरनेवाले नहीं है। हम आतंकियों को अपने मिशन में रुकावट नहीं बनने देंगे। अफगानिस्तान से लोगों को सुरक्षित निकालेंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति का यह ट्वीट काबुल एयपोर्ट पर फिदायीन हमले के बाद आया है। काबुल एयरपोर्ट पर हुए आत्मघाती हमले में कम से कम 72 लोगों के मारे जाने कई के घायल होने की खबर है। राष्ट्रपति जो बायडेन ने काबुल एयरपोर्ट पर हमले की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि जिन लोगों ने भी इस करतूत को अंजाम दिया है उन्हें सजा भुगतनी होगी। बायडेन ने कहा- हम हमलावरों को माफ नहीं करेंगे। हम भूलेंगे नहीं। हम आतंकियों को ढूंढेंगे और उनके किए की सजा देंगे। बायडेन ने कहा- हम अफगानिस्तान से अमेरिकी नागरिकों बचाएंगे। अपने अफगान सहयोगियों को बाहर निकालेंगे और हमारा मिशन जारी रहेगा।'

बायडेन ने बृहस्पतिवार को व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा, ‘‘ इस हमले को अंजाम देने वाले और अमेरिका को नुकसान पहुंचाने की मंशा रखने वाले ध्यान रखें कि हम तुम्हें बख्शेंगे नहीं। हम यह भूलेंगे नहीं। हम तुम्हें पकड़कर इसकी सजा देंगे। मैं अपने देश के हितों और लोगों की रक्षा करूंगा.’’ राष्ट्रपति ने कहा कि काबुल में हामिद करज़ई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे और उसके पास एक होटल पर हुए भयावह हमले के पीछे आईएसआईएस-के का हाथ है। बायडेन ने कहा, ‘‘ जैसा कि आप सभी जानते हैं, जिन आतंकवादी हमलों के बारे में हम बात कर रहे थे और जिनके बारे में खुफिया तंत्र चिंतित था, उसे आईएसआईएस-के नामक संगठन ने अंजाम दिया। उन्होंने हवाईअड्डे पर तैनात अमेरिकी सेवा के सदस्यों की जान ली और कई को गंभीर रूप से घायल भी कर दिया। उन्होंने कई असैन्य लोगों की भी जान ली और कई को घायल भी किया।’’

बायडेन ने कहा कि उन्होंने अपने कमांडरों को आईएसआईएस-के के ठिकानों, नेतृत्व और सुविधाओं पर हमला करने की योजना तैयार करने के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि काबुल में निकासी अभियान को 31 अगस्त तक पूरा करने के लिए वह अब भी प्रतिबद्ध हैं। बायडेन ने कहा, ‘‘ हम अभियान पूरा कर सकते हैं और जरूर करेंगे। मैंने उन्हें यही आदेश भी दिया है। हम आतंकवादियों के आगे घुटने नहीं टेकेंगे। हम उन्हें हमारा अभियान रोकने नहीं देंगे। हम निकासी अभियान जारी रखेंगे।’’

राष्ट्रपति ने कहा कि यह तालिबान के हित में है कि वह आईएसआईएस-के को अफगानिस्तान में और पैर ना पसारने दे। बायडेन ने कहा, ‘‘ यह तालिबान के हित में है कि वह आईएसआईएस-के को अफगानिस्तान में और पैर ना पसारने दे।’’ उन्होंने साथ ही कहा कि हवाईअड्डे पर हमले को अंजाम देने में तालिबान और आईएसआईएस की मिलीभगत का अब तक कोई सबूत नहीं मिला है।

 

Related News