Follow us:

प्रेमचंद गुड्डू ने दिया नोटिस का जवाब, 9 फरवरी को दे चुका हूं भाजपा से इस्तीफा

भोपाल। पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा को नोटिस का जवाब भेजा है। जिसमें उन्होंने कहा कि वे 9 फरवरी को ही भाजपा से इस्तीफा दे चुका हूं। पत्र में उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया और तुलसी सिलावट पर भी आरोप लगाए हैं। इस पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष का कहना है कि उनका इस्तीफा आज तक नहीं मिला।

प्रेमचंद गुड्डू की कांग्रेस में वापसी तय हो गई है। सप्ताह भर में गुड्डू भाजपा छोड़ फिर कांग्रेस की औपचारिक सदस्यता ले सकते हैं। उनके साथ भाजपा के 7-8 प्रदेश पदाधिकारी भी कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। मंगलवार को गुड्डू के पुत्र अजीत बौरासी ने भी भाजपा को लाइन से उलट जाकर ज्योतिरादित्य सिंधिया का विरोध शुरू कर दिया था। अजीत ने कहा कि हमारी लड़ाई सामंतवाद के खिलाफ थी। यह जारी रहेगी। अजीत भाजपा के टिकट से आलोट से विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं। गुड्डू की ओर से बयान आया था कि प्रदेश में किसानों की हालत खराब है और उनकी लड़ाई का दावा करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया दुबके हुए हैं।

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस में वापसी के लिए गुड्डू की कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और दिग्विजय सिंह से भी मुलाकात हो चुकी है। लॉकडाउन के बीच ही वे कुशलगढ़ जाकर क्षेत्र के पुराने कांग्रेस नेता महेश जोशी से मिलकर आ चुके हैं। वरिष्ठ नेताओं ने उनकी वापसी को हरी झंडी दे दी है। निचले स्तर की तैयारियों के साथ गुड्डू की वापसी का ऐलान जल्द कर दिया जाएगा। इसी बीच मंगलवार को भाजपा की ओर से गुड्डू को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया था। भाजपा के जिलाध्यक्ष राजेश सोनकर ने कहा कि सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से पार्टी विरोधी बयानबाजी के लिए उन्हें को नोटिस जारी किया है। सात दिन के भीतर उन्हें भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के सामने उपस्थित होकर जवाब देने के लिए कहा गया है। वरना गुड्डू पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

 

 

Related News