Follow us:

भोपाल के नेहरु स्‍टेडियम में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया अस्‍पताल भवनों का शिलान्‍यास, कहा- दुनिया में उपलब्ध महंगे इलाज के बीच भारत में सस्ते उपचार की व्यवस्था

भोपाल। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि वैक्सीन से मानव जीवन बचा है। मैं दो दिन की विदेश यात्रा पर था। वहां दो देशों में कार्यक्रम थे। वहां के प्रधानमंत्री और डारेक्टर गवर्नर ने बताया भारत वैक्सीन नहीं देता, तो हमारी आधी आबादी नहीं बचती। सभी राज्यों में 85 प्रतिशत क्षेत्र में आरोग्य भारती सक्रिय है। पूरे देश की एक स्वास्थ्य सेवा के लिए वर्तमान सेवाओं को समझना होगा। दुनिया में उपलब्ध महंगे इलाज के बीच भारत में सस्ते उपचार की व्यवस्था है। यही वजह है कि दिल्ली के अस्पतालों में भी देखें तो देश के विभिन्न हिस्सों के साथ ही विदेशों के मरीज इलाज के लिए आते हैं।

यह बात राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राजधानी में कुशाभाऊ ठाकरे अंतरराष्‍ट्रीय समागम केंद्र में आयोजित 'एक देश-एक स्वास्थ्य सेवा" पर आरोग्य मंथन कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर कही। राष्‍ट्रपति ने कहा कि आरोग्य भारती आयुर्वेद के माध्यम से जनसेवा का अभिनंदनीय प्रयास कर रहा है। देश में मेडिकल टूरिज्म बढ़ रहा है, लेकिन यह भी सच है कि आवश्यकतानुसार उपचार की व्यवस्था को मजबूत करना है। 2017 में घोषित राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति के तहत सभी के आरोग्य की व्यवस्था करने का संकल्प है। इस ध्येय की प्राप्ति के लिए भारत सरकार निरंतर कार्य कर रही है। भारत में चिकित्सा की प्राचीन पद्धति रही है, जिससे विश्व को भी मार्गदर्शन मिला है। भारत ने दुनिया को योग, प्राणायम और व्यायाम के साथ आध्यात्मिक शक्ति का बोध कराया। हमें दैनिक दायित्वों का निर्वहन करने के साथ-साथ प्रकृति के अनुरूप और सरल जीवन शैली अपनानी चाहिये। इससे हमारा स्वास्थ्य बेहतर रहेगा। योग को टालने के लिए कोई बहाना ठीक नहीं है। योग को लेकर कुछ लोग भ्रांतियां फैलाते हैं, जबकि निरोग रहने के लिए कोई भेदभाव या भ्रांतियां आड़े नहीं आना चाहिए।

इसके पूर्व मंच पर मुख्यमंत्री ने आंवले का पौधा भेंंट कर और शाल ओढ़ाकर राष्‍ट्रपति का स्‍वागत किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आपके विचार हमें प्रेरणा देते हैं। सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि केवल पहलवान बनने से काम नहीं चलता। मन, तन भी बलिष्ठ होना चाहिए। प्रधानमंत्री ने प्राकृतिक खेती को प्रोत्साहित किया। इससे स्वास्थ्य सुधरेगा। हड्डी टूटने पर चूरन से काम नहीं चलेगा। वहां तो सर्जरी ही होगी। इसलिए सभी विधाओं पर मिलकर काम करना चाहिए। हमने तीनों पद्धतियों का उपयोग कोविड-19 से लड़ने के लिए प्रयोग किया। काढ़े का वितरण कर सबको उपयोग के लिए भी अनुरोध किया। योग से निरोग अभियान भी शुरू किया। आयुर्वेद, एलोपैथी और योग का भी हमने उपयोग किया। प्रदेश में जो आइसोलेशन में थे उन्हें ऑनलाइन योग सिखाया जाता था। आयुर्वेद भी था, एलोपैथी भी थी और योग प्राणायाम भी था। राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा कि आज पिज्जा और कोल्डड्रिंक का जमाना है। जबकि स्वस्थ रहने के लिए सात्विक भोजन जरूरी है। आरोग्य भारती के प्रयासों से चिकित्सा का खर्च कम होगा। इस कार्यक्रम में आयुष मंत्री रामकिशोर कांवरे और आरोग्य भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश पंडित मौजूद हैं। कार्यक्रम के दौरान आरोग्‍य भारती पत्रिका का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम में आरोग्य भारती के अध्यक्ष राकेश पंडित ने कहा कि हमारी संस्था लोगों को स्वस्थ रहने के लिए प्रेरित करती है। प्रयोग जैसे जैसे होंगे मेडिकल कास्ट कम होगा।

इसके अलावा राष्ट्रपति शनिवार को हमीदिया अस्पताल के नए भवन का वर्चुअल लोकार्पण करेंगे। यह कार्यक्रम मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में राष्‍ट्रपति राजधानी में बनने वाले क्षेत्रीय श्‍वसन रोग संस्‍थान के अलावा प्रदेश के कुछ अन्‍य जिलों में नवीन स्वास्थ्य संस्था भवनों का भूमिपूजन भी करेंगे। राष्ट्रपति शनिवार को भी राजभवन में रात्रि विश्राम करेंगे और रविवार को महाकाल के दर्शन के लिए उज्जैन रवाना होंगे।

 

Related News