Follow us:

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंगल क्लिक से वितरित किए 299 करोड़ रूपए, 1000 करोड के कार्यो कार किया लोकार्पण

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जन-कल्याण और सुराज अभियान में मिंटो हाल में एक हजार करोड़ से अधिक की लागत के 73 विकास कार्यों का वर्चुअल लोकार्पण किया। साथ ही 402 शहरों को 15वें वित्त आयोग की अनुशंसा पर 299.04 करोड़ रुपये सिंगल क्लिक से वितरित किए। कार्यक्रम में भोपाल और नर्मदापुरम संभाग में 13, इंदौर में 15, सागर में दो, जबलपुर में 17, उज्जैन में 19, रीवा में एक, ग्वालियर-चंबल में छह और मध्य प्रदेश निर्माण एवं अधोसंरचना विकास मंडल के छह विकास कार्यों का लोकार्पण किया। मध्य प्रदेश की 30 फीसदी से ज्यादा आबादी अब हमारे शहरों में रहती है। पहली जरूरत शहरों में स्वच्छता की है। इस समय डेंगू की समस्या है। हमें डेंगू को फैलने से रोकने के लिए स्वच्छता रखना है। मध्य प्रदेश देश में स्वच्छता के मामले में सबसे ऊपर है। हमारी विकास की योजनाओं में गरीबों को स्थान देना जरूरी है। हमने संकल्प लिया है कि हम गरीबों को लाभान्वित कर झुग्गी-मुक्त शहर बनाएंगे। गरीबों को पक्की छत दी जाएगी। मध्य प्रदेश में कोई गरीब बिना मकान के नहीं रहेगा।

सीएम ने कहा हमने शहरों में सीवरेज की प्रणाली को विकसित किया है। अधिकारी इस बात का ध्यान रखेंगे की सड़कों को सीवरेज के लिए खोदा जाए, तो उनका रीस्टोरेशन भी हो। माफियाओं से मुक्त कराई गई ज़मीनों पर गरीबों के लिए आवास बनाये जाएंगे। गरीब की सबसे बड़ी आवश्यकता आवास है। आज प्रधानमंत्री आवास योजना के कई काम पूरे हुए हैं और हमारी बहनों को मकान का उपहार मिला है।

सीएम शिवराज ने इसके पहले मिंटो हाल में विजय उत्सव के अवसर पर मध्य प्रदेश ट्रेड पोर्टल का शुभारंभ किया। सीएम शिवराज ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि अकेली सरकार, सीएम और मंत्री कुछ नहीं कर सकते। जनभागीदारी से कोरोना को नियंत्रित किया गया। इससे नई बात पता चली, अनुभवियों को जोड़ो और उनसे बात करो। एक्पोर्ट काउंसिल में एक्सपोर्टर भी शामिल होंगे। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत वाणिज्य सप्ताह के कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि बेरोजगारी बड़ी समस्या है, उसका समाधान खोज रहे हैं। मध्य प्रदेश में उद्योग बढ़ाने होंगे, हम कई तरह के उत्पाद एक्सपोर्ट करेंगे। एक जनवरी से निर्यात शुरू कर देंगे। शहडोल में कोदो कुटकी, नीमच में एक कली का लहसून का निर्यात कर सकते हैं। हम अपनी जरुरत के साथ एक्सपोर्ट क्वालिटी के सामान बनाएं। हम आज भी एक्सपोर्ट कर रहे हैं, पर ताइवान की तरह करना चाहते हैं।

सीएम ने कहा कि हमारी ग्रोथ हो रही है, पर एक्सपोर्ट क्वालिटी पर काम करना है। एक हफ्ते में काउंसिल गठित हो जाएगी। निर्यात से जुड़ी छोटी छोटी तकनीक पर ध्यान देंगे। अंतरराष्ट्रीय बाजार का सर्वे जरुरी है। अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में उद्योगों को बनाए रखना होगा। हर जिले में एक्सपोर्ट कमेटी बनाएंगे। नीचे मजबूत करना होगा वल्लभ भवन में बैठने से काम नहीं होगा। काउंसिल मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में होगी। क्योंकि क ई बार मुख्यमंत्री की आंख का इशारा देखकर काम होता है। एयर कार्गो को लेकर भोपाल में काम करेंगे। जिन देशों-राज्यों ने अच्छा काम किया, उनसे सीखें। एक साल में परिणाम दें, जमाने की रफ्तार तेज है।

भोपाल संभाग - 242 करोड़ 61 लाख 46 हजार के 13 कार्यों का लोकार्पण हुआ। इनमें महालक्ष्मी 551, आवासीय परिसर निर्माण, माता मंदिर से न्यू मार्केट मार्ग निर्माण, पेयजल योजना शमशाबाद, ट्रेक्टीकल परियोजना अंतर्गत विभिन्न् स्थानों पर प्लेस मेकिंग कार्य, नगर के विभिन्न् वार्डो में सीसी रोड एवं नाली निर्माण तथा मसानिया तलाई में सीसी निर्माण एवं सुंदरीकरण कार्य, वार्ड 29 नेहरू नगर पुलिस लाइन उद्यान का विकास, नेहरू नगर में स्कूल के पास उद्यान का विकास, ट्रासंपोर्ट नगर में व्यवसायिक परिसर में निर्माण, यादगारे शाहजहानी एक्सटेंशन उद्यान का विकास, जोन 18 इंडस कॉलोनी में सात उद्यानों का विकास और वार्ड क्र. 14 बस स्टैंड पर यात्री प्रतीक्षालय निर्माण सिलवानी शामिल हैं।

जबलपुर संभाग - 49 करोड़ 57 लाख 50 हजार स्र्पये की लागत के 11 कार्यों का लोकार्पण हुआ। इनमें गांधी लाइब्रेरी, आधार तल पार्क विकास, चंद्रशेखर आजाद पार्क विकास, शिव नगर पार्क विकास, दमुआ के वार्ड क्र.-13 में नगरपालिका भवन निर्माण कार्य, आदर्श नगर पार्क विकास, रोड सेफ्टी इक्यूपमेंट, योजना क्रमांक-5 विजय नगर अंतर्गत 27 डुप्लेक्स का निर्माण एवं परिसर का बाह्य विकास कार्य, शताब्दीपुरम के अंतर्गत मध्यम वर्ग के हितग्राहियों हेतु 48 एमआइजी भवनों का निर्माण एवं परिसर का बाह्य विकास कार्य, योजना क्रमाक-14 आइएसबीटी के समीप शॉपिंग कॉम्पलेक्स (39 दुकानें, 21 ऑफिस, 25 होटल/रेस्टोरेंट रूम) का निर्माण कार्य एवं परिसर का बाह्य विकास कार्य शामिल हैं।

उज्जैन संभाग - 313 करोड़ 39 लाख 45 हजार स्र्पये की लागत से निर्मित विकास कार्यों का लोकार्पण हुआ। इनमें अमृत योजना अतंर्गत सीवरेज परियोजना, इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम, नूतन स्कूल परिसर का निर्माण, डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी शॉपिंग काम्पलेक्स (45 दुकानें), गणेश कॉलोनी स्कूल का निर्माण, वार्ड क्र.-40 शंकरपुर में आरसीसी उधा स्तरीय टंकी निर्माण, वार्ड क्र.-4 में कालीपुरा में आरसीसी उधा स्तरीय टंकी निर्माण, वार्ड क्र.-50 ऋषि नगर में आरसीरी टंकी निर्माण, बड़नगर में चमला नदी पर बैराज निर्माण, श्री महाकालेश्वर मंदिर एवं प्रांगण में स्थित अन्य मंदिरों पर विद्युत सज्जा, नूतन स्कूल गणेश कॉलोनी में रूफटॉप सोलर एनर्जी उत्पादन, उन्हेल में नवीन बस-स्टैण्ड निर्माण, उज्जैन के वार्ड क्र.-13 में सम्वेल निर्माण, देवास में मास्टर प्लान में प्रस्तावित एमआर-12 एवं एमआर-13 का निर्माण, देवास में दीनदयाल उपाध्याय नगर में विकास कार्य, न्यू देवास सेक्टर एफ में विकास कार्य, रतलाम में कर्मशाला परिसर निर्माण और निमावर में रैन बसेरा का लोकार्पण शामिल है।

रीवा संभाग - विरसिंहपुर में दो करोड़ 25 लाख की लागत के पीसीसी रोड, नाली एवं विद्युतीकरण के कार्य का लोकार्पण हुआ।

ग्वालियर संभाग - 260 करोड़ 16 लाख के कार्यों का लोकार्पण हुआ। इनमें विभिन्न् वार्डों में टंकी एवं पाइप लाइन नेटवर्क, फोर्ट एरिया में लाइटिंग, शताब्दीपुरम में आठ एमएलडी एसटीपी एवं सीवर लाइन नेटवर्क, ललियापुरा में चार एमएलडी एसटीपी एवं सीवर लाइन नेटवर्क, मुरैना में एमएस रोड पर डिवाइडर, इंदरगढ़ के वार्ड-12 में सीसी रोड एवं नाली का लोकार्पण हुआ।

सागर संभाग - 35 करोड़ 33 लाख के दो कार्यों का लोकार्पण हुआ। राहतगढ़ पेयजल योजना और सागर में रैन बसेरा एवं दीनदयाल रसोई का लोकार्पण हुआ।

इंदौर संभाग - 129 करोड़ 97 लाख 40 हजार स्र्पये के 15 कार्यों का लोकार्पण हुआ। इनमें शिवालिक परिसर, लुसडिया मोरी में पानी की टंकी एवं वितरण पाइप लाइन, नर्मदा परिसर, विश्राम बाग परिसर में उद्यान, गोपाल मंदिर शापिंग काम्पलेक्स, मूसाखेड़ी मेन रोड पर पुल निर्माण, गांधीनगर स्थित विद्यालय में अतिरिक्त कमरों का निर्माण, उषागंज छावनी में पुलिया, वार्ड-19 में सीसी रोड, सांवेर रोड एफ सेक्टर में पुलिया, मानवता नगर में टेनिस कोर्ट, स्नेह नगर में उद्यानिकी एवं गार्डन, लैंड स्केपिंग, पोला ग्राउंड स्थित अहिल्याश्रम माध्यमिक विद्यालय का विस्तारीकरण, वार्ड-17 में सीसी रोड और सिलिकान सिटी से एबी रोड पर स्थित पुल का चौड़ीकरण।

अधोसंरचना विकास मंडल के कार्यों का भी लोकार्पण

मध्य प्रदेश गृह निर्माण एवं अधोसंरचना विकास मंडल के छह कार्यों का लोकार्पण भी हुआ। इनकी कुल लागत 41 करोड़ 30 लाख 74 हजार रुपये है। इनमें रीवा में अटल परिसर स्थित 139 ईडब्ल्यूएस एवं 60 एलआइजी भवन, डॉ. हरिसिंह गौर नगर सागर में विभिन्न् श्रेणी के 138 भवन, पं. दीनदयाल नगर सागर में विभिन्न् श्रेणी के 67 भवन, ग्वालियर में कावेरी इन्क्लेव दर्पण कालोनी, राघौगढ़ में पॉलिटेक्निक कॉलेज और गुन्नौर, पवई और शाहनगर में निर्मिण प्रशिक्षण कक्ष शामिल हैं।

 

Related News