Follow us:

महाराष्ट्र में कोरोना के बेकाबु हालात, उस्मानाबाद में एक साथ जली 23 चिताएं

मुंबई। कोरोना (Coronavirus) महामारी की दूसरी लहर से देश में हालात विकट होते जा रहे हैं. महाराष्ट्र (Maharashtra) में इस महामारी का सबसे ज्यादा असर दिख रहा है. राज्य के उस्मानाबाद (Osmanabad) जिले में ऐसी घटना सामने आई है, जिससे लोग हैरान रह गए हैं.

एक साथ जलाई 23 मृतकों की चिताएं
जानकारी के मुताबिक उस्मानाबाद (Osmanabad) जिले में 23 मृतकों की चिताएं एक साथ जलाई गई. ये सभी लोग कोरोना (Coronavirus) महामारी की चपेट में आए थे. अपने परिजनों को आखिरी विदाई देने के लिए बड़ी संख्या में लोग श्मशान घाट पहुंचे थे. एक साथ इतने लोगों की चिता जलते देख लोगों की आंखें नम हो गई. बेबस हो चुके लोग अपने प्रियजनों को पंचतत्व में विलीन होते देखने को मजबूर थे.

चिता के लिए नहीं मिल रहे प्लेटफार्म
उस्मानाबाद (Osmanabad) जिले में हालात इस कदर खराब हो चुके हैं कि लोगों को चिता जलाने के लिए श्मसान घाट में प्लेटफार्म तक नहीं मिल रहे हैं. ऐसे में श्मसान घाट में पहुंचे कई शवों को जमीन पर रखकर जलाना पड़ा. इससे पहले भी 14 अप्रैल को 19 शवों का एक साथ दाह संस्कार किया गया था. जिले में कोरोना वायरस (Coronavirus) से अबतक 691 लोगों की मौत हो चुकी हैं. पिछले 24 घंटे में उस्मानाबाद में 580 नए केस मिले जबकि 23 लोगों की मौत हुई. उस्मानाबाद में अब तक 28 हजार 978 मरीज मिल चुके हैं.

पुणे में तेजी से फैल रहा है कोरोना
महाराष्ट्र (Maharashtra) में यूं तो कई जिले कोरोना महामारी की चपेट में हैं लेकिन पुणे की हालत सबसे ज्यादा खराब है. पुणे में अब तक 7 लाख से ज्यादा मरीज मिल चुके हैं और 8 हजार 742 मरीजों की मौत हो चुकी है. जिले में फिलहाल 1 लाख 16 हजार 665 मरीजों का इलाज जारी है.

मृतकों के मामले में मुंबई पहले नंबर पर
महाराराष्ट्र में कोरोना (Coronavirus) मृतकों की बात की जाए तो मुंबई पहले स्थान पर है. वहां पर 12 हजार से ज्यादा मरीज जान गंवा चुके हैं. मुंबई में अब तक कोरोना के 5 लाख 62 हजार 207 मामले मिल चुके हैं. वहीं पूरे महाराष्ट्र में अब तक 59 हजार 551 की मौत हो चुकी है और 37 लाख 3 हजार 584 मरीज मिल चुके हैं.

 

Related News