Follow us:

IPL 2020 CSK vs MI: चेन्नई सुपर किंग्स के नाम दर्ज हुए ये शर्मनाक रिकॉर्ड

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में शुक्रवार को मुंबई इंडियंस के हाथों 10 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ ही चेन्नई सुपर किंग्स IPL 2020 से खिताबी होड़ से बाहर हो गई। आईपीएल इतिहास में यह पहला मौका था, जब चेन्नई टीम को किसी मैच में 10 विकेट से हार झेलनी पड़ी। महेंद्रसिंह धोनी की टीम इस मैच को कभी भी याद नहीं रखना चाहेगी, क्योंकि यह गेंद शेष रहते भी सबसे बड़ी हार है। इसके अलावा यह टीम आईपीएल इतिहास में पहली बार प्लेऑफ में पहुंचने में नाकाम रही।

करो या मरो के मुकाबले में खेलने उतरी महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई को मुंबई के कार्यवाहक कप्तान किरोन पोलार्ड ने पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया। चेन्नई बेहद खराब शुरुआत के बाद 9 विकेट पर 114 रन ही बना पाई। टीम ने एक समय 3 रनों पर 4 विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद सैम कुर्रन ने नाबाद अर्द्धशतक (52) जड़ते हुए टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। इसके बाद मुंबई ने 12.2 ओवरों में बिना कोई विकेट खोए टारगेट हासिल किया। ओपनर इशान किशन ने आतिशी 68 रनों की पारी खेली। क्विंटन डी कॉक ने 46 रन बनाए।

चेन्नई सुपर किंग्स को मिली सबसे बड़ी हार :

इस सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ चेन्नई की टीम ने 10 विकेट से जीत हासिल की थी लेकिन यह पहला मौका रहा जब टीम को ऐसी हार मिली। चेन्नई टीम पहली बार 10 विकेट से हारी। इससे पहले 2008 में मुंबई इंडियंस ने सीएसके को 9 विकेट से हराया था।

अब तक चेन्नई ने दो बार 10 विकेट से जीत हासिल की थी। अब इस लिस्ट में मुंबई का नाम जुड़ गया है। यह 13वां मौका था जब किसी टीम ने 10 विकेट से जीत हासिल की हो। मुंबई ने इससे पहले 2012 में राजस्थान के खिलाफ इतनी बड़ी जीत हासिल की थी। आरसीबी ने सबसे ज्यादा तीन बार विपक्षी टीमों को 10 विकेट से हराया है।

गेंद के लिहाज से चेन्नई के खिलाफ सबसे बड़ी जीत :

मुंबई इंडियंस ने यह मुकाबला चेन्नई के खिलाफ 46 गेंद शेष रहते जीता। चेन्नई के खिलाफ गेंद शेष रहते यह सबसे बड़ी जीत है, इससे पहले दिल्ली ने 2012 में चेन्नई के खिलाफ 40 गेंद शेष रहते जीत दर्ज की थी। मुंबई ने 2008 में सीएसके को 37 गेंद शेष रहते हराया था। आईपीएल इतिहास में गेंद रहते सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड भी मुंबई के नाम पर ही है, उसने कोलकाता के खिलाफ 2008 में टीम ने महज 5.3 ओवर में 87 गेंद रहते ही जीत हासिल की थी। इसके बाद टूर्नामेंट से हट चुकी कोच्चि की टीम का नाम है जिसने राजस्थान को 76 गेंद रहते हराया था। पंजाब ने 2017 में दिल्ली की टीम पर 73 गेंद रहते जीत हासिल की थी। शुक्रवार को मुंबई ने 46 गेंद रहते चेन्नई पर जीत हासिल की यह गेंद के लिहाज से 10 बड़ी जीत है।

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम आईपीएल इतिहास की सबसे सफल टीम है। तीन बार की विजेता सीएसके के लिए आईपीएल 2020 बेहद खराब रहा और टीम पहली बार प्लेऑफ में पहुंचने में नाकाम रहीं।