Follow us:

दिल्ली के मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास बिल्डिंग में आग लगने से 27 की मौत, कई लोग अभी भी लापता, पीएम मोदी ने जताया दुख

एक कमर्शियल बिल्डिंग में आग लगने से 26 लोगों की मौत हो गई, जबकि 12 अन्य घायल हो गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी घटना पर शोक जताते हुए मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

आग इमारत की पहली मंजिल से लगनी शुरू हुई जहां सीसीटीवी कैमरा और राउटर निर्माता कंपनी का कार्यालय है।

नयी दिल्ली। दिल्ली के पश्चिमी इलाके में मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास स्थित 3 मंजिला कमर्शियल बिल्डिंग में शुक्रवार शाम आग लग गयी जिससे इस हादसे में कम से कम 27लोगों की मौत हो गयी और 12 अन्य झुलस गये। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर घटना पर शोक जताया है। वहीं, प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों एवं घायलों के लिए मुआवजे की घोषणा की है। फायर डिपार्टमेंट के अधिकारियों के मुताबिक, आग की सूचना शाम 4 बजकर करीब 40 मिनट पर मिली जिसके बाद दमकल की 24 गाड़ियां मौके पर भेजी गईं थी।

पिलर नंबर 544 के पास है कमर्शल बिल्डिंग

अधिकारियों ने कहा कि आग मुंडका मेट्रो स्टेशन के पिलर नंबर 544 के पास स्थित इमारत में लगी। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आग लगने की सूचना मिलने पर पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे और इमारत में फंसे लोगों को खिड़की के शीशे तोड़कर निकाला गया तथा घायलों को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस बीच अधिकारियों ने बताया कि बिल्डिंग से 27 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं। मौत का आंकड़ा अभी बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

पीएम ने हादसे पर जताया दुख, मुआवजे की घोषणा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर शोक जताते हुए कहा है कि उनकी संवेदना शोक संतप्त परिवारों के साथ है। साथ ही प्रधानमंत्री ने घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा, 'दिल्‍ली में भीषण आग के कारण लोगों की मौत से बेहद दुखी हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।' प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्विटर पर प्रधानमंत्री राहत कोष के जरिए मृतकों को परिजनों को 2 लाख रुपये एवं घायलों को 50 हजार रुपये दिए जाने की घोषणा की है।

'बिल्डिंग में कई कंपनियों के दफ्तर मौजूद'
बाहरी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (DCP) समीर शर्मा ने कहा कि शुरुआती जांच में पता चला है कि 3 मंजिला व्यावसायिक इमारत में कंपनियों के दफ्तर हैं। DCP के मुताबिक, आग इमारत की पहली मंजिल से लगनी शुरू हुई जहां सीसीटीवी कैमरा और राउटर निर्माता कंपनी का कार्यालय है। पुलिस ने कहा कि कंपनी का मालिक पुलिस की हिरासत में है। उन्होंने कहा कि स्थिति पर काबू पाने की कोशिश चल रही है और राहत कार्य भी लगातार जारी है।

केजरीवाल और पुरी ने जताया दुख
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना में लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया और कहा कि वह लगातार अधिकारियों के संपर्क में हैं। केन्द्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी घटना पर दुख व्यक्त किया है। पुरी ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली के मुंडका में आग लगने की घटना में लोगों के जान गंवाने से बेहद दुखी हूं। मैं पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना करता हूं।’ केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘इस दुखद घटना के बारे में जानकर स्तब्ध हूं और पीड़ा में हूं। मैं अधिकारियों के लगातार संपर्क में हूं। हमारे बहादुर दमकलकर्मी आग को काबू में करने और जिंदगियों को बचाने की कोशिश में लगे हुए हैं।’

फर्स्ट फ्लोर पर मौजूद फैक्ट्री से भड़की थी आग
रिपोर्ट्स के मुताबिक, आग बिल्डिंग के फर्स्ट फ्लोर में मौजूद एक फैक्ट्री से शुरू हुई जिसमें सीसीटीवी कैमरा और राउटर जैसी चीजों का निर्माण होता है। कंपनी के मालिक को पुलिस कस्टडी में ले लिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिल्डिंग का फायर एनओसी नहीं था। वहीं, कोफे इम्पेक्स प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी, जो कि सीसीटीवी कैमरे बनाती है, के मालिकों हरीश गोयल और वरुण गोयल को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Related News