Follow us:

धार जिले में सेव द चिल्ड्रन का कोविड राहत अभियान

धार। ज़िले में कोविड महामारी के प्रकोप से शहरों के साथ - साथ अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी रोजी-रोटी का संकट बढ गया है। गरीब और वंचित वर्ग पर इस महामारी का प्रकोप कम करने के लिये सेव द चिल्ड्रन एवं महात्मा गाँधी सेवा आश्रम संस्था मदद के लिए आगे आई और पंचायतों के सहयोग से सबसे ज्यादा जरुरतमन्दों की पहचान कर मनावर ब्लॉक के 13 गांवों में 332 परिवारों को एवं कुक्षी के 24 गांव में 668 परिवारों को एक माह का राशन और हाईजीन किट वितरित किया है। बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए विश्वभर में काम कर रहे संगठन सेव द चिल्ड्रन की आपदाओं के समय राहत पहुंचाने में भी प्रमुख भूमिका रही है। सेव द चिल्ड्रन के वरिष्ठ प्रबंधक प्रदीप नायर ने बताया कि सेव द चिल्ड्रन 2 जिलों धार और बड़वानी में बालश्रम की रोकथाम के लिए विभिन्न परियोजनाओं का संचालन कर रहा है। कोविड राहत अभियान समाज एवम समुदाय के प्रति हमारी जिम्मेदारी का प्रतीक है। हम हर जरूरतमन्द तक जरूरी राहत सामग्री पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं।
सेव द चिल्ड्रन के कार्यक्रम समन्वयक अरुणांशु मंडल ने बताया कि धार जिले के मनावर ब्लॉक मे 13 गांवों में 332 परिवारों को एवं कुक्षी के 24 गांव में 668 परिवारों को अभी तक लाभान्वित किया गया है। महात्मा गाँधी सेवा आश्रम के कार्यक्रम समन्वयक श्री प्रस्सना कुमार बारीक़ द्वारा बताया गया कि सेव द चिल्ड्रन के सहयोग से अभी तक गांव के सरपंच, सचिव, पंच एवं अन्य स्तंभधारको की उपस्थिति में एक माह का राशन और हाइजीन किट देते हुए कोरोना से बचाव के उपाय भी बताए गए। राहत अभियान के दौरान संस्था - महात्मा गाँधी सेवा आश्रम के कार्यकर्ता रीना, ज्योति, ललिता, रंजना, बबिता, वाशिम,रंजना मुजाल्दा की सक्रिय भागीदारी रही।

Related News