Follow us:

असम में एक साथ दो वेरिएंट से संक्रमित हुई लेडी डॉक्टर, भारत में ऐसा पहला कोरोना केस

देश में पहली बार कोरोना संक्रमण का अनोखा मामला सामने आया है। असम की एक महिला डॉक्टर को एक ही समय पर कोरोना वायरस के दो अलग-अलग वेरिएंट से संक्रमण हुआ है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के क्षेत्रीय चिकित्सा अनुसंधान केंद्र (RMRC) के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ बी बोरकाकोटी ने बताया है कि कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद भी महिला डॉक्टर कोरोना वायरस के अल्फा और डेल्टा दोनों वेरिएंट से संक्रमित पाई गई है।

मई में दोहरे संक्रमण का पता चला

मिली जानकारी के मुताबिक आरएमआरसी की प्रयोगशाला में मई में मरीज में दोहरे संक्रमण का पता चला था. डॉ बोरकाकोटी बताया कि कोरोना वायरस के दोहरे वैरिएंट से संक्रमण के मामले ब्रिटेन, ब्राजील और पुर्तगाल में सामने आए थे लेकिन अभी तक भारत में ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया था। वैक्सीन की दोनों डोज लेने के करीब एक महीने बाद महिला और उनके पति कोरोना वायरस के अल्फा वेरिएंट से संक्रमित हो गए थे। गौरतलब है कि ये दंपति डॉक्टर कोविड देखाभल केंद्र में तैनात था।

महिला को अस्पताल में भर्ती करने की स्थित नहीं आई

वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ बी बोरकाकोटी ने बताया कि महिला की तबियत ठीक है और उन्हें अस्पताल में भर्ती करने की नौबत नहीं आई। डॉ. बी बोरकाकोटी ने कहा कि हमने दोबारा दंपति के सैंपल एकत्र किए और परीक्षण के दूसरे चरण में महिला डॉक्टर में दोहरे संक्रमण की दोबारा पुष्टि हुई थी। महिला डॉक्टर में हल्के गले की खराश, बदन दर्द और अनिद्रा के हल्के लक्षण दिखाई दिए थे, लेकिन उन्हें अस्पताल में भर्ती करने लायक स्थिति नहीं आई थी।

बेल्जियम में 90 साल के महिला में मिले थे दो वैरिएंट

गौरतलब है कि ऐसी ही एक मामला बीते दिनों बेल्जियम में देखने को मिला था। यहां एक एक 90 वर्षीय महिला के कोरोना वायरस के दो अलग-अलग वेरिएंट से संक्रमित होने की रिपोर्ट सामने आई थी। बुजुर्ग महिला में अल्‍फा और बीटा दोनों वेरिएंट मिले थे और अस्पताल में भर्ती करने के 5 दिन बाद महिला की मौत हो गई थी।

Related News