Follow us:

किसान आंदोलन : सरकार और अन्नदाता के बीच 11वें दौर की बैठक भी बेनतीजा, अगली तारीख तय नहीं

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों का आंदोलन आज 58वें दिन में प्रवेश कर चुका है। किसानों ने सरकार के प्रस्ताव को ठुकराते हुए आंदोलन जारी रखने का एलान किया है। वहीं आज दोनों पक्षों के बीच 11वें दौर की बैठक भी बेनतीजा रही और अगले बैठक की तारीख भी सरकार की तरफ से नहीं दी गई है। 

अगली बैठक के लिए अभी कोई तारीख तय नहीं हुई: किसान नेता
सरकार के साथ 11वें दौर की वार्ता के बाद किसान नेता ने कहा कि सरकार द्वारा जो प्रस्ताव दिया गया था वो हमने स्वीकार नहीं किया। कृषि क़ानूनों को वापस लेने की बात को सरकार ने स्वीकार नहीं की। अगली बैठक के लिए अभी कोई तारीख तय नहीं हुई है। 

सरकार ने एमएसपी पर भी समिति बनाने का दिया है प्रस्तावः किसान नेता
एक किसान नेता ने बताया कि, सरकार ने आज ये प्रस्ताव भी दिया कि हम एक कमेटी कृषि कानून पर बना देते हैं और एक कमेटी एमएसपी पर बना देते हैं। दोनों समितियां अपनी रिपोर्ट देंगी और हम डेढ़ की बजाय दो साल के लिए कानूनों पर रोक लगा देते हैं। लेकिन सरकार ने पहले बनाई गई किसी समिति की सिफारिशों को लागू नहीं किया गया तो हम कैसे मान लें इन समितियों की सिफारिश सरकार मानेगी।

सरकार ने डेढ़ साल तक कानूनों पर रोक का प्रस्ताव दियाः राकेश टिकैत
बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बैठक के बाद कहा कि, सरकार की तरफ से कहा गया कि डेढ़ साल की जगह दो साल तक कृषि कानूनों को स्थगित करके चर्चा की जा सकती है। उन्होंने कहा अगर इस प्रस्ताव पर किसान तैयार हैं तो कल फिर से बात की जा सकती है, कोई अन्य प्रस्ताव सरकार ने नहीं दिया।

 सरकार ने जो प्रस्ताव दिया था हमने स्वीकार करने नहीं कियाः किसान नेता
एक किसान नेता ने बताया कि, सरकार द्वारा जो प्रस्ताव दिया गया था वो हमने स्वीकार नहीं किया। कृषि कानूनों को वापस लेने की बात सरकार ने स्वीकार नहीं की। अगली बैठक के लिए अभी कोई तारीख तय नहीं हुई है।

सरकार ने नहीं तय की है कोई तारीख और समयः सुरजीत सिंह फुल
भारतीय किसान यूनियन क्रांतिकारी(पंजाब) के नेता सुरजीत सिंह फुल ने कहा कि 11वें दौर की बैठक खत्म हो गई है और सरकार द्वारा अगली बैठक के लिए कोई तारीख तय नहीं की गई है।

 

Related News