Follow us:

किसान आंदोलन के बीच प्रधानमंत्री मोदी से मिलने पहुंचे हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला

नई दिल्ली। किसान आंदोलन के बीच हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने पहुंचे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बाद दुष्यंत चौटाला प्रदेश के ताजा राजनीतिक हालात से मोदी को अवगत कराएंगे।

दुष्यंत मोदी से नए कृषि कानूनों और किसान आंदोलन को लेकर भी चर्चा करने वाले हैं। आंदोलन के अब तक के असर व भविष्य की संभावित परिस्थितियों पर दुष्यंत पीएम से विचार-विमर्श करेंगे। टेक्सटाइल हब, एयरपोर्ट, ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर व रेल मार्गों को जल्दी विकसित करने पर भी बात होगी।

सुप्रीम कोर्ट के नए कानूनों के अमल पर रोक लगाने व चार सदस्यीय समिति गठित करने के बावजूद आंदोलनरत किसानों के तेवर नरम नहीं पड़े हैं। इससे जननायक जनता पार्टी पर दबाव बढ़ रहा है। जजपा किसानों से जुड़ी पार्टी है और उसके कुछ विधायक आंदोलन के समर्थन में हैं। आंदोलन के और लंबा खिंचने पर जजपा विधायकों को पार्टी का नुकसान होता दिख रहा है। दुष्यंत चौटाला विधायकों के लगातार संपर्क में हैं। 

पीएम के साथ बैठक में उपमुख्यमंत्री सारी बातों पर चर्चा करेंगे। किसान आंदोलन से उत्पन्न राजनीतिक हलचल के बीच हो रही यह बैठक बेहद अहम मानी जा रही है। इससे पहले जजपा विधायक दल ने मंगलवार को ताजा हालात पर मंथन किया था। नई दिल्ली में डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के आवास पर हुई बैठक में अधिकतर जजपा विधायकों ने नए कृषि कानून सिरे से नकार दिए। नारनौंद से विधायक रामकुमार गौतम तो बैठक में ही नहीं पहुंचे। 

सूत्रों के अनुसार जजपा के कुछ विधायक बैठक में मुखर रहे। उन्होंने सीधे कहा कि नए कानूनों से गठबंधन सरकार को नुकसान हो रहा है। इन्हें केंद्र सरकार आंख बंद कर निरस्त कर दे। किसान आंदोलन से राजनीतिक तौर पर नुकसान उठाना पड़ सकता है। किसान नए कानूनों पर कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हैं। उनके गुस्से को सीएम व मंत्रियों के कार्यक्रम में साफ देखा जा चुका है। डिप्टी सीएम के कार्यक्रम स्थल के पास बने हेलीपैड को भी वे उखाड़ चुके हैं। सरकार वर्तमान में उपजे हालात को समझे और आंदोलन को जल्द खत्म कराए।

Related News