Follow us:

नगर निगम परिणाम : हैदराबाद में पूरी तरह बदली तस्वीर, TRS सबसे आगे, AIMIM भी BJP से आगे

हैदराबाद। हैदराबाद नगर निकाय चुनाव के तहत मतों की गिनती जारी है। मतगणना के लिए चुनाव आयोग द्वारा व्यापक इंतजाम किये गए हैं। 1 दिसंबर को संपन्न हुए हैदराबाद नगर निकाय चुनाव में सभी दलों ने एड़ी चोटी का जोर लगाया था। हालांकि एक दिसंबर को हुए चुनाव में 74.67 लाख पंजीकृत मतदाताओं में से केवल 34.50 लाख (46.55 प्रतिशत) मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था।

2016 के चुनावों की तरह ही इस बार भी TRS पहले, AIMIM दूसरे और BJP तीसरे नंबर पर नजर आ रही है। हालांकि, BJP ने इस बार पहले ज्यादा बेहतर प्रदर्शन किया है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि 30 स्थानों पर मतगणना केन्द्र बनाए गए हैं। 8,152 कर्मियों को मतगणना कार्य में तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि मतगणना की पूरी प्रक्रिया को प्रत्येक मतगणना केन्द्र में लगाए गए सीसीटीवी कैमरों में कैद किया जाएगा। चुनाव में मतपत्रों का इस्तेमाल किया गया था, लिहाजा नतीजों के बारे में शाम या रात तक तस्वीर साफ हो पाएगी।

क्या भाजपा का बनेगा मेयर?

BJP को अपना मेयर बनाने के लिए 150 में से कम से कम 95 सीटें जीतनी होंगी, वहीं अगर TRS 67 सीटें भी जीत लेती है तो उसका मेयर बन जायेगा कैसे इसे समझिए।
मेयर के चुनाव के लिए वोटिंग के दिन GHMC के 150 चुने हुए जन प्रतिनिधियों के अलावा एक्स ओफ्फिशियो वोटर्स भी वोट डालतें हैं। ये वो लोग हैं जो GHMC की लिमिट से लोकसभा, राज्य सभा, विधानसभा और विधान परिषद में चुने गए सांसद या विधायक होते हैं।

ताजा सूची के मुताबिक ऐसे 45 वोटर्स हैं। जिनमें से TRS के पास 31, AIMIM के पास 10, BJP के पास 3 और कांग्रेस के पास 1 वोट है। तो मेयर के चुनाव के लिए कुल 150+45= 195 वोट पड़ेंगे और इसमें से जिस पार्टी को 98 वोट मिलेंगे उसका मेयर बनेगा। इस लिहाज से TRS ज्यादा कंफर्टेबल नज़र आ रही है। BJP तभी अपना मेयर बना पाएगी जब लेंड स्लाइड जीत हो...

 

Related News