Follow us:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज इंदौर से शुरु करेंगे मध्‍यप्रदेश स्‍टार्टअप नीति की शुरुआत, स्टार्टअप संचालकों से करेंगे संवाद

इंदौर। मध्य प्रदेश के स्टार्टअप को गति देने और इंदौर को स्टार्टअप कैपिटल बनाने के लिए शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी प्रदेश की स्टार्टअप नीति का शुभारंभ करेंगे। शाम 6.30 बजे वे आभासी माध्यम से जुड़ेंगे और प्रदेश के तीन स्टार्टअप संचालकों से संवाद भी करेंगे। इसमें इंदौर के शाप किराना के तनुतेजस सारस्वत व ग्रामोफोन के तौसीफ खान और भोपाल के उमंग श्रीधर डिजाइन स्टार्टअप की संस्थापक उमंग श्रीधर शामिल हैं। स्टार्टअप नीति का पोर्टल भी लांच किया जाएगा। ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में होने वाले सम्मेलन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दोपहर 3.45 बजे पहुंचेंगे और निवेशकों से चर्चा करेंगे।

सम्मेलन में सरकारी और निजी क्षेत्र के नीति निर्माता, इनोवेटर्स, केंद्र और राज्य के प्रशासक, स्टार्टअप, संभावित उद्यमी, स्टार्टअप ईकोसिस्टम के सभी स्तंभ और जनप्रतिनिधि शामिल होंगे। शिक्षाविद, निवेशक, मेंटर्स और देश के स्टार्टअप ईकोसिस्टम के अन्य हितधारक भी सहभागिता करेंगे। सम्मेलन में होंगे पांच सत्र एक दिवसीय कार्यक्रम में कुल पांच सत्र होंगे। इनमें तीन सेक्टोरल सत्र, स्टार्टअप एक्सपो और प्रधानमंत्री की वर्चुअल उपस्थिति में स्टार्टअप नीति का शुभारंभ शामिल है।

शाम 5.30 बजे उद्योग विभाग के सचिव पी. नरहरि एमपी स्टार्टअप नीति की ब्रीफिंग और प्रस्तुति देंगे। 5.45 बजे केंद्र शासन के उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआइआइटी) के सचिव अनुराग जैन कार्यक्रम संबोधित करेंगे। 5.55 बजे सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा संबोधित करेंगे। 6 बजे मुख्यमंत्री चौहान का उद्बोधन होगा। इसके बाद स्टार्टअप पर आधारित लघु फिल्म का प्रदर्शन होगा। प्रधानमंत्री मोदी की उपस्थिति में मुख्यमंत्री द्वारा मध्य प्रदेश स्टार्टअप नीति के अंतर्गत स्टार्टअप को वित्तीय सहायता का वितरण किया जाएगा। कार्यक्रम में करीब दो हजार लोग मौजूद रहेंगे।

नीति निर्माताओं और निर्णयकर्ताओं से मिलेगी जानकारी

सम्मेलन में सुबह 11 बजे से स्पीड मेंटरिंग सत्र होगा। इसमें स्टार्टअप, शैक्षणिक संस्थानों और स्टार्टअप स्पेस के प्रमुख लीडर्स के साथ मिलेंगे और खुला संवाद होगा। दोपहर 12 बजे से 'कैसे करें स्टार्टअप' सत्र में प्रतिभागियों को नीति निर्माताओं और निर्णयकर्ताओं से जानकारी मिलेगी। स्टार्टअप में आने वाली चुनौतियों का सामना कैसे किया जाए पर भी बात होगी। दोपहर 1 बजे से फंडिंग सत्र होगा। इसमें स्टार्टअप और संभावित उद्यमी टीयर-वन और टीयर-टू शहरों में फंडिंग के विभिन्न तरीकों के बारे में जानेंगे।

 

Related News