Follow us:

नगर निगम चुनाव : वार्ड के निवासी को ही पार्षद का टिकट देंगी कांग्रेस, कई नेताओं का गणित गडबडाया

इंदौर। कांग्रेस से पार्षद का टिकट अब वो ही मांग सकेगा, जो उसी वार्ड में रहता है। अन्य क्षेत्र में जाकर चुनाव लड़ने की चाहत रखने वाले को पार्टी इस बार टिकट नहीं देगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने रविवार को यह निर्देश दिए हैं। निर्देश के बाद चुनाव की तैयारी में जुटे कई नेताओं के गणित गड़बड़ा गए हैं। शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने बताया कि प्राप्त दिशा-निर्देश के तहत कांग्रेस उम्मीदवार उन्हें ही बनाए, जो व्यक्ति जिस वार्ड में रहता है या उसी वार्ड का मतदाता हो। किसी भी उम्मीदवार का वार्ड परिवर्तन नहीं होगा। नए निर्देश के बाद चयन समिति की बैठक में हम चर्चा करेंगे। बहुत से दावेदार स्वयं के क्षेत्र से ही टिकट मांग रहे हैं, लेकिन कुछ प्रभावित होंगे।

वहीं मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव राजेश चौकसे ने बताया कि यह भविष्य की सोच है, जो स्थानीय नेता है और स्थानीय जनसमस्या उठाते हैं, उनकी दावेदारी पर अतिक्रमण नहीं हो पाएगा। इससे नेतृत्व की दूसरी पंक्ति को तैयार होने का मौका मिलेगा।

कई ने दूसरे वार्डों में शुरू कर दिया था काम : परिसीमन के बाद कांग्रेस के कई नेताओं के वार्ड प्रभावित हुए थे। इसके बाद उन्होंने दूसरे वार्ड में सुरक्षित जमीन तलाशना शुरू कर दिया था। अब उन्हें दिक्कत का सामना करना पड़ेगा। इस बीच एक वर्तमान पार्षद ने अपना वार्ड महिला आरक्षित होने के बाद चुनाव न लड़ने का फैसला किया है। नए निर्देशों के बाद कांग्रेस के 30 से ज्यादा वाडों में दावा जता रहे नेता प्रभावित होंगे।

15 जून से पहले टिकट तय होना मुश्किल

कांग्रेस में पार्षद पद के लिए टिकट की आस लगाए दावेदारों का इंतजार थोड़ा लंबा हो सकता है। 15 जून को पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ आ इंदौर आ रहे हैं। सूत्रों के अनुसार उनकी यात्रा से पहले कांग्रेस टिकट बांटकर विरोध का सामना नहीं करना चाहती है। डर है कि टिकट कटने से नाराज दावेदार कमल नाथ के समक्ष विरोध प्रदर्शन कर सकते हैं। वहीं सूची घोषित नहीं होने से सभी दावेदार 15 जून को पूर्व मुख्यमंत्री की सभा को सफल बनाने में जोर लगाएंगे।

 

 

Related News