Follow us:

खंडवा : ओंकारेश्वर महादेव ने किया नौका विहार, 20 हजार से अधिक श्रद्धालु पहुंचे

खंडवा/ओंकारेश्वर। श्रावण के पहले सोमवार को तीर्थनगरी में भगवान ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग और ममलेश्वर महादेव की सवारी निकली। कोरोना प्रोटोकाल की वजह से इस वर्ष भी सादगी से परंपरा का निर्वहन किया गया। सवारी का भ्रमण क्षेत्र और समय कम करने से भगवान भोलेनाथ दो घंटे में ही नगर भ्रमण कर मंदिर लौट गए। इधर, मंदिर में श्रद्धालुओं ने वीआइपी टिकट और आनलाइन पंजीयन से 20 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।

भगवान ओंकारेश्वर की पंचमुख रजत मूर्ति को शाम चार बजे मंदिर से फूलों से सजी पालकी में विराजित कर नगर भ्रमण करवाया गया। पालकी आदिगुरु शंकराचार्य गुफा के सामन से होते हुए कोटितीर्थ घाट पहुंची। यहां वेदाचार्य पंड़ित राजेश्वर दीक्षित के आचार्यत्व में मंदिर के पंड़ित-पुजारियों ने भगवान को नर्मदा स्नान करवाया। अभिषेक-पूजन के बाद भोलेनाथ को नौका विहार करवाया गया। नाव में पंड़ित-पुजारी और मंदिर ट्रस्ट के कर्मचारी ही भगवान के साथ सवार हुए। इसके बाद सवारी ओंकार मठ, पुरान झूला पुल से निकलकर शिवपुरी मुख्य बाजार से मंदिर पहुंची। रास्ते में दोनों ओर खड़े होकर श्रद्धालुओं ने दर्शन किए।

दोनो सवारियों का नहीं हुआ मिलाप

प्रतिवर्ष सावन और भादौ माह के सोमवार को सवारी के गौमुखघाट पहुंचने पर भगवान ओंकारेश्वर और ममलेश्वर का मिलाप होने के साथ ही दोनों नौका विहार करते हैं, लेकिन इस बार भी मिलाप नहीं हुआ।

 

Related News