Follow us:

लखीमपुर हिंसा : दशहरा पर पीएम और गृहमंत्री का पुतला जलाएगा संयुक्त किसान मोर्चा

संयुक्त किसान मोर्चा के प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान योगेंद्र यादव ने इस बात का एलान किया. उन्होंने कहा कि दशहरा के मौके पर एसकेएम 15 अक्टूबर को पीएम और गृहमंत्री का पुतला जलाएगा.

नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी हिंसा के विरोध में 15 अक्टूबर को दशहरा पर संयुक्त किसान मोर्चा (Samyukta Kisan Morcha) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का पुतला जलाएगा. संयुक्त किसान मोर्चा के प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आज योगेंद्र यादव ने इस बात की जानकारी दी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि एसकेएम ने लखीमपुर खीरी हिंसा के विरोध में 18 अक्टूबर को ‘रेल रोको’ का आह्वान किया है.

लखीमपुर की घटना पहले से रची गई साजिश का हिस्सा- किसान नेता दर्शन पाल

योगेंद्र यादव ने कहा कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को पद से हटाया जाए और गिरफ्तार किया जाए क्योंकि उन्होंने यह साजिश रची है. किसान नेता जोगिंदर सिंह उगराहां ने कहा कि हमारी मांग है कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा और उनके बेटे आशीष को गिरफ्तार किया जाए. सरकार ने प्रदर्शनकारी किसानों के खिलाफ हिंसक रुख अपनाया है. हम हिंसा की राह पर नहीं जाएंगे. किसान नेता दर्शन पाल ने आरोप लगाया कि लखीमपुर खीरी घटना पहले से रची गई साजिश का हिस्सा है. उन्होंने (हमलावरों) ने किसानों को आतंकित करने की कोशिश की.

राकेश टिकैत ने क्या कहा?

लखीमपुर खीरी की घटना पर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भी कहा कि 15 अक्टूबर को पुतला दहन होगा. इसके बाद 18 अक्टूबर को 6 घंटे ट्रेन रोकी जाएगी. 26 अक्टूबर को बैठक होगी और पूरे देश में उनकी (मृत किसानों) कलश यात्राएं निकलेंगी.

किसान नेता हन्नान मोल्लाह ने कहा कि ये आंदोलन 10 महीने से चल रहा है और 300 लोग शहीद हो गए. इस परिस्थिति में जो आंदोलन चल रहा है, कुछ ने कहा सिर्फ पंजाब में सीमित है. लेकिन ऐसा नहीं है, ये आंदोलन सब जगह है. इस आन्दोलन को सबने समर्थन किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि ये आरएसएस की हिंसा है. ये आंदोलन को डराकर खत्म करना चाहता है लेकिन आंदोलन चल रहा है और चलता रहेगा.

 

Related News