Follow us:

मध्यप्रदेश : 16 विधायकों के स्वतंत्र न होने तक फ्लोर टेस्ट की बात बेमानी और अलोकतांत्रिक: CM कमलनाथ

भोपाल। मध्य प्रदेश में सियासी हलचल जारी है. बुधवार को सीएम कमलनाथ की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री निवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई. जिसमें कांग्रेस के वो मंत्री और विधायक भी शामिल हुए, जो दिग्विजय सिंह के साथ बेंगलुरु गए थे. यहां सीएम कमलनाथ के साथ आगे की सियासी रणनीति पर चर्चा हुई. विधायक दल की बैठक में बेंगलुरु में हुए घटनाक्रम को लेकर निंदा प्रस्ताव लाया गया, जबकि कर्नाटक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के समर्थन के लिए धन्यवाद प्रस्ताव पारित किया गया. कांग्रेस विधायक दल की बैठक में चाचौड़ा से कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने चाचौड़ा को जिला बनाए जाने पर सीएम का आभार जताया.

''16 विधायकों के स्वतंत्र न होने तक फ्लोर टेस्ट की बात बेमानी और अलोकतांत्रिक''
विधायकों को संबोधित करते हुए सीएम कमलनाथ ने कहा कि जबतक बेंगलुरु में 16 विधायक स्वतंत्र नहीं हो जाते तब तक फ्लोर टेस्ट की बात बेमानी और अलोकतांत्रिक है. सीएम कमलनाथ ने बैठक में विधायकों को सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई की विस्तार से जानकारी दी. सीएम ने कहा कि हमें पूरा भरोसा है कि कोर्ट से हमें न्याय मिलेगा और बीजेपी की साजिश का जल्द ही अंत होगा.

सरकार के पास अभी भी 115 से 116 विधायक: कांग्रेस
बैठक के बाद मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि सरकार के पास अभी भी 115 से 116 विधायक हैं, इसके अलावा कई बीजेपी विधायक भी संपर्क में हैं, कमलनाथ सरकार पूर्ण बहुमत में है. वहीं बैठक में पहुंचे दूसरे विधायकों ने कहा कि सत्ता के लालच में संविधान की हत्या की कोशिश की जा रही है, जिस सरकार को जनता का विश्वास हासिल है उसे हर जगह विश्वास मिलेगा.

 

Related News