Follow us:

कोरोना वायरस : पिछले 24 घंटे में सामने आए 42 नए मामले, पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर हुई 649: स्वास्थ्य मंत्रालय

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस के पॉजिटिव मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में इस बीमारी 42 नए मामले सामने आए हैं और 4 लोगों की मौत हो चुकी है। अब देश में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 649 हो चुकी है। इस बात की जानकारी स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी प्रेस वार्ता में दी।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 17 राज्यों ने कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज के लिए समर्पित अस्पताल चिह्नित करने का काम शुरू कर दिया है। मंत्रालय ने ये भी कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के चेन को तोड़ने में सामाजिक मेलजोल से दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) प्रभावी साबित हो सकता है। प्रेस वार्ता में यह भी जानकारी दी गयी कि कोरोना वायरस संक्रमण मच्छरों के जरिये नहीं फैलता है।

संभावित हालात से निपटने के लिए AIIMS में टास्कफोर्स गठित

दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने कोरोना वायरस से उत्पन्न हालात के मद्देनजर निकट भविष्य की संभावित चुनौतियों से निपटने की कार्ययोजना बनाने के लिये एक कार्यबल (टास्क फोर्स) का गठन किया है। एम्स द्वारा गुरुवार को जारी निर्देश के अनुसार संभावित स्थिति के कुशल प्रबंधन हेतु कार्ययोजना बनाने के लिये तैयार किए गए कार्यबल के तहत विभिन्न समितियों का भी गठन किया गया है।

एम्स प्रशासन ने आने वाले दिनों में संक्रमण के मामले बढ़ने की आशंका को देखते हुये एहतियाती इंतजामों के तहत यह पहल की है। इसके तहत मानव संसाधन, मरीजों और अन्य संसाधनों के प्रबंधन के अलावा परीक्षण तथा चिकित्सा सहायता आदि के प्रबंधन के लिये अलग अलग समितियां गठित की गयी हैं। इसके अलावा एम्स परिसर में मरीजों की देखभाल और कोरोना वायरस के परीक्षण के लिये जरूरी उपकरणों, चिकित्सा कर्मियों और अन्य जरूरी संसाधनों का आंकलन करने के लिये एक उपसमिति भी गठित की गयी है।

सभी जरूरी संसाधनों का आंकलन करने वाली उप समिति अपनी रिपोर्ट संसाधन प्रबंधन समिति को सौंपेगी जिससे आवश्यक संसाधनों का पहले से ही इंतजाम सुनिश्चित किया जा सके। संसाधन प्रबंधन समिति मांग के अनुरुप संसाधनों की उपलब्धता सुनिश्चित करेगी। निर्देश के अनुसार यह पहल, संसाधनों की मांग एवं आपूर्ति की व्यवस्था को केन्द्रीकृत करने के लिये की गयी है जिससे जरूरत पड़ने पर सभी संसाधनों की उपलब्धता में अनावश्यक विलंब न हो। मानव संसाधन समिति को चिकित्सा कर्मियों एवं अन्य कर्मचारियों की मांग के अनुरूप तैनाती की जिम्मेदारी सौंपी गयी है।

इसी प्रकार कोरोना वायरस के संक्रमण के परीक्षण संबंधी प्रबंध समिति परीक्षण किट की उपलब्धता सुनिश्चित करेगी। इसके तहत सभी चिकित्सा कर्मियों को सभी प्रकार के संभावित हालात से निपटने के लिये जरूरी प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। प्रशिक्षण के लिये पृथक समिति गठित की गयी है। एम्स प्रशासन ने इस निर्देश से सभी विभाग प्रमुखों को अवगत करा दिया है। 

 

Related News