Follow us:

मध्य प्रदेश के भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, विदिशा और रतलाम में आज से नाइट कर्फ्यू, जानिए नियम

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित इंदौर, ग्वालियर, विदिशा और रतलाम में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने यहां नाइट कर्फ्यू लगाने का आदेश जारी किया है। कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा। इस दौरान दुकानें और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। मास्क नहीं पहनने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा। विवाह और सामाजिक कार्यक्रमों में अधिकतम उपस्थिति की सीमा के लिए आज जिला आपदा प्रबंधन समूहों की बैठक होने जा रही है। मध्य प्रदेश में कोरोना के सक्रिय रोगियों की संख्या के मामले में 15वें स्थान पर है।

बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर इन नियमों का करना होगा पालन

- मास्क पहनना अनिवार्य है, इसका पालन नहीं करने वालों पर कार्रवाई होगी।

- सार्वजनिक स्थानों पर शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करना।

- कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक दुकानें बंद रहेंगी।

- स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे, स्कूलों में केवल 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थी मार्गदर्शन के लिए जा सकेंगे।

- सिनेमाघर केवल 50 फीसद क्षमता के साथ खुलेंगे।

भोपाल में आज रात आठ बजे से दुकानें बंद करेंगे व्यापारी

भोपाल में कोरोना संक्रमितों के बढ़े आंकड़ों ने एक बार फिर चिंता में डाल दिया है। इस समय रिकॉर्ड संख्या में संक्रमित मिल रहे हैं। इसके चलते शुक्रवार को दोपहर में जहां मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने बैठक लेकर कोरोना को लेकर समीक्षा की तो शाम को न्यू मार्केट में व्यापारिक संगठनों ने बैठक लेकर शनिवार से रात आठ बजे तक दुकानें बंद करने का निर्णय लिया। न्यू मार्केट, लखेरापुरा, कोलार, बिट्टन मार्केट, इंद्रपुरी आदि व्यापारिक महासंघों की बैठक न्यू मार्केट में हुई। इसमें कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट), भोपाल चेम्बर्स ऑफ कॉमर्स, न्यू मार्केट व्यापारी महासंघ, कोलार व्यापारी महासंघ, इंद्रपुरी व्यापारी महासंघ, बिट्टन मार्केट, राजधानी वस्त्र व्यापारी संघ के पदाधिकारी मौजूद थे। यह निर्णय सभी ने एकमत होकर लिया

इंदौर में भीड़भरी पार्टियों और पर्यटन स्थलों पर नियंत्रण की तैयारी

इंदौर में कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण भीड़ भरे आयोजनों, फार्म हाउस पार्टी और पर्यटन स्थलों पर होने वाले जमावड़े पर नियंत्रण की तैयारी है। कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को लेकर शनिवार को आपदा प्रबंधन समूह की बैठक रखी गई है। इसमें प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी और जनप्रतिनिधि मिलकर कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। मरीजों की संख्या और स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति को लेकर प्रशासन पहले ही समीक्षा कर चुका है। समीक्षा में यह सामने आया है कि शासकीय अस्पतालों में बेड उपलब्ध हैं, लेकिन सक्षम लोग निजी अस्पतालों में इलाज कराना पसंद करते हैं, इसलिए वहां के बेड भरे हुए हैं। निजी अस्पतालों में आइसीयू भी मुश्किल से मिल पा रहे हैं। कोरोना संक्रमण का शिकार वे लोग अधिक हो रहे हैं, जो मधुमेह, दिल की बीमारी जैसे रोगों से पीड़ित हैं। इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि अस्पतालों में बेड की इतनी परेशानी नहीं है, लेकिन बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए हम अपनी तैयारियों को एक बार फिर देख रहे हैं। जहां तक प्रतिबंधों की बात है तो वह आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में ही तय होंगे। इससे पहले कोरोना महामारी के दौर से उबरकर बाजार और व्यावसायिक गतिविधियां मुश्किल से पटरी पर आई हैं। अब ऐसे प्रतिबंध नहीं लगाए जा सकते, जिससे आम आदमी को परेशानी हो।

भोपाल स्टेशन पर इंजीनियर से पुलिस ने बोला तुम चोर हो,छीन लिए पांच हजार रुपये और मोबाइल
भोपाल स्टेशन पर इंजीनियर से पुलिस ने बोला तुम चोर हो,छीन लिए पांच हजार रुपये और मोबाइल
यह भी पढ़ें
ग्वालियर में मास्क न लगाने पर 500 रुपये का जुर्माना

ग्वालियर में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए शनिवार से मास्क न लगाने पर 500 रुपये का चालान किया जाएगा। इसको लेकर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने शुक्रवार को सभी एसडीएम को अपने-अपने क्षेत्र में कार्रवाई करने का जिम्मा देते हुए टीमें गठित कर दी हैं। शनिवार की शाम चार बजे ऑनलाइन क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक रखी गई है। जिसमें आगामी रणनीति व वैवाहिक समारोहों को लेकर प्लानिंग तय की जाएगी।

Related News