Follow us:

पीएम मोदी आज पश्चिम बंगाल-ओडिशा का करेंगे दौरा, अम्फान तूफान से हुई तबाही का लेंगे जायजा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पश्चिम बंगाल और ओडिशा के दौरे पर जाएंगे। दोनों राज्यों में अम्फान तूफान ने भारी तबाही मचाई है। पीएम मोदी आज तूफान प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। इस दौरान पीएम मोदी के साथ राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद रहेंगी। पीएम मोदी की दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वन टू वन मीटिंग भी होगी।

पश्चिम बंगाल और ओडिशा में आए इस तूफान पर केंद्र सरकार की पूरी नजर थी और अब तूफान के बाद हुई तबाही का जायजा लेने के लिए आज पीएम मोदी पश्चिम बंगाल और उड़ीसा जा रहे है।

पीएम मोदी का कार्यक्रम

पीएम मोदी सुबह कोलकाता एयरपोर्ट पहुंचेंगे
इसके बाद पीएम मोदी पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्ती के साथ चॉपर से बशीरहाट जाएंगे
इसके बाद पीएम मोदी और सीएम ममता बनर्जी तूफान प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे
हवाई सर्वेक्षण करने के बाद पीएम मोदी भुवनेश्वर के लिए रवाना हो जाएंगे
प. बंगाल को कैसे मदद की जाए इसको लेकर पीएम मोदी ममता बनर्जी से मीटिंग करेंगे
ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक के साथ भी पीएम मोदी की मीटिंग होगी

अम्फान तूफान बर्बादी लेकर आएगा इसका केंद्र सरकार को पहले से ही अंदेशा था। पीएम मोदी खुद अम्फान प्रभावित राज्यों पर नजर रख रहे थे। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, "अम्फान के कारण पश्चिम बंगाल में हुई तबाही की तस्वीरें देख रहा हूं। यह काफी कठिन समय है, पूरा देश इस समय पश्चिम बंगाल के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। राज्य के लोगों की बेहतरी के लिए हम कामना करते हैं। हालात सामान्य करने के प्रयास जारी हैं।"

अम्फान की मार झेल रहे पश्चिम बंगाल ने ऐसा तूफान पहले कभी नहीं देखा। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ही प्रधानमंत्री से साइक्लोन प्रभावित इलाकों का दौरा करने की अपील की थी। राज्य में इस तूफान ने 72 लोगों की जान ली है। बंगाल के 2 जिले, नॉर्थ 24 परगना और साउथ 24 परगना बुरी तरह बर्बाद हैं। कोलकाता में भी बहुत ज्यादा बर्बादी हुई है। कोलकाता जैसा ही हाल दीघा का भी है जहां तस्वीरें बेहद भयानक भी है और दर्दनाक भी।

अधिकारियों ने कहा कि मृतकों में कोलकाता के 15, उत्तरी 24 परगना के 17, दक्षिणी 24 परगना-सुंदरबन क्षेत्र के चार और बशीरहाट के 10 लोग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की राजधानी के साथ ही पूर्वी मिदनापुर, हावड़ा और उत्तरी तथा दक्षिणी 24 परगना जिले सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दक्षिणी 24 परगना जिले का 99 प्रतिशत खत्म हो गया है और कई नवनिर्मित इमारतें भी क्षतिग्रस्त हो गयी हैं।

पश्चिम बंगाल हीं नहीं ओडिशा का हाल भी बेहाल है। यहां भी जगह जगह सड़कों पर पेड़ गिरे है। बालासोर में जिंदगी थम गई है, केंद्रापाड़ा में भी बिजली के पोल उखड़ गए। अब बिजली के तारों को काटकर खतरे को टाला जा रहा है।

 

Related News