Follow us:

उमा भारती ने कहा महाकाल ने किया "राक्षस विकास दुबे" का संहार, गिरफ्तारी पर शिवराज सरकार से पूछे 3 सवाल

भोपाल। गैंगस्टर विकास दुबे के एन्काउंटर (Vikas Dubey Encounter) के बाद मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने यूपी पुलिस को बधाई दी है। उन्होंने अपने खास अंदाज में कहा कि भगवान महाकाल ने विकास दुबे का संहार कर दिया है, जिस राक्षस ने ईमानदार पुलिस अफसर देवेंद्र मिश्रा समेत 8 पुलिसकर्मियों की हत्याएं की थी। हालांकि अपने ट्वीट में उमा भारती ने विकास के उज्जैन तक पहुंचने पर सवाल भी उठाया।

विकास दुबे के उज्जैन पहुंचने पर सवाल उठाते हुए उमा ने लिखा, 'अब तीन बातें रहस्य की परत में हैं-(1) वह (विकासग दुबे) उज्जैन तक कैसे पहुंचा? (2) वह महाकाल परिसर में कितनी देर रहा? (3) उसका चेहरा टीवी पर इतना दिखा कि उसे कोई भी पहचान लेता तो उसको पहचाने जाने में इतना समय कैसे लगा?' उन्होंने कहा कि मैं शिवराज सिंह चौहान और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से इस विषय पर बात अवश्य करूंगी। किंतु यह सच्चाई तो सामने आ गई कि भगवान महाकाल ने देवेंद्र मिश्र जैसे ईमानदार पुलिस अधिकारी के हत्यारे का संहार कर दिया।

बता दें कि कानपुर हत्याकांड का मुख्य आरोपी विकास दुबे एन्काउंटर में मारा गया है। विकास दुबे को कानपुर के हैलट अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मध्‍य प्रदेश के उज्‍जैन में गिरफ्तार होने के बाद विकास दुबे को कानपुर लेकर आ रही यूपी एसटीएफ का वाहन कानपुर के निकट दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इसी वाहन में विकास दुबे भी सवार था। बताया जा रहा है कि आज सुबह करीब 6:30 बजे यह मुठभेड़ शुरू हुई। इसके बाद इसे लाला लाजपत राय अस्पताल ले जाया गया, जहां 7:55 पर डॉक्टरों में मृत घोषित कर दिया।

कानपुर पश्चिम के एसपी ने बताया कि वाहन दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद विकास दुबे ने घायल सिपाहियों से पिस्टल छीनने की कोशिश की। भाग रहे विकास दुबे को पुलिस ने सरेंडर के लिए कहा, जिस पर उसने पुलिस कर्मियों पर फायर कर दिया। जवाब में उसे पुलिस की गोली लगी। यह हादसा कानपुर के पास ही हुआ है। हादसे से कुछ देर पहले ही यूपी एसटीएफ की टीम कानपुर टोल प्लाजा के पास से गुजरी थी। बता दें कि कल ट्रांजिट रिमांड के बाद विकास दुबे को मध्य प्रदेश पुलिस ने यूपी एसटीएफ को सौंप दिया है। मिली जानकारी के अनुसार, उत्तरप्रदेश एसटीएफ 2 गाडियों में उज्जैन आई थी। बताया जा रहा है कि यूपी एसटीएफ के साथ उज्जैन पुलिस भी यूपी बॉर्डर तक आई थी।

 

Related News