Follow us:

अब अमेरिका भी भारत की राह पर, टिकटॉक समेत चाइनीज ऐप पर लगा सकता है प्रतिबंध

59 चीनी एप बंद करने के फैसले पर अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा था, "भारत का क्लीन एप दृष्टिकोण भारत की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देगा."

वॉशिगटन। दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका भी अब भारत की राह पर चलता नजर आ रहा है. हाल ही में अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने चीनी ऐप टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाए जाने के भारत के फैसले की तारीफ की थी. अब अमेरिका भी टिकटॉक समेत सभी चाइनीज ऐप पर प्रतिबंध लगा सकता है. पोम्पिओ ने सोमवार को कहा, अमेरिका टिकटॉक समेत 'चीनी सोशल मीडिया ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने' पर निश्चित रूप से विचार कर रहा है. ये बात पोम्पियो ने फॉक्स न्यूज के साथ एक इंटरव्यू में कही.

भारत के फैसले पर अमेरिका के विदेश मंत्री बोले- ये राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देगा
59 चीनी एप बंद करने के फैसले पर अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा था, "ये कदम राष्ट्रीय सुरक्षा और अखंडता को बढ़ावा देगा. भारत का क्लीन एप दृष्टिकोण भारत की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देगा."

भारत में चीनी ऐप पर प्रतिबंध के बाद से अमेरिका में भी ऐसा करने की मांग उठने लगी है. अमेरिका में कुछ सांसद इसका समर्थन कर रहे हैं. इन सासंदों ने अमेरिकी सरकार से इस पर विचार करने की अपील की है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि छोटे छोटे वीडियो शेयर करने वाले ऐप किसी भी देश की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा है.

रिपब्लिकन पार्टी के ही सांसद रिक क्रोफोर्ड ने कहा था, ‘‘टिकटॉक को जाना ही चाहिए और इसे तो पहले ही प्रतिबंधित कर देना चाहिए था.’’ इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओ ब्रायन ने आरोप लगाया था कि चीनी सरकार टिकटॉक का इस्तेमाल अपने उद्देश्यों के लिए कर रही है.

अमेरिकी संसद में कम से कम वैसे दो विधेयक लंबित हैं जिनमें संघीय सरकारी अधिकारियों को अपने फोन पर टिकटॉक का इस्तेमाल करने से रोकने के प्रावधान हैं. इससे लगता है कि भारत के कदम के बाद अमेरिका में भी टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है.

 


Related News