Follow us:

लॉकडाउन में हवाई यात्रा पर सवाल, 7 उड़ानों में मिले 17 कोरोना पॉज़िटिव केस

घरेलू और इंटरनेशनल उड़ानों को मिलाकर अब तक 7 उड़ानों में 17 कोरोना पॉज़िटिव केस मिल चुके हैं.

पहले दिन से ही इन उड़ानों में कोरोना वायरस के केस पाए जा रहे हैं.

नई दिल्ली। देश में 25 मई से अपनी एक तिहाई क्षमता के साथ घरेलू उड़ानें शुरू हुई हैं. इससे पहले नागरिक उड्डयन मंत्रालय, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया और विभिन्न एयर लाइनों ने ये दावा किया था कि यात्रियों को सुरक्षित रखने के लिए कोविड-19 के ख़िलाफ उनके तमाम एहतिहात और सुरक्षा इंतजाम चाक-चौबंद है.

लेकिन पहले दिन से ही इन उड़ानों में कोरोना वायरस के केस पाए जा रहे हैं. घरेलू और इंटरनेशनल उड़ानों को मिलाकर अब तक 7 उड़ानों में 17 कोरोना पॉज़िटिव केस मिल चुके हैं.

तीन दिन में इंडिगो की चार उड़ानों में 12 संक्रमित यात्री पाए गए हैं. स्पाइस जेट की एक ही उड़ान में 2 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं. एलायंस एयर में भी एक संक्रमित पाया गया है. इसके अलावा एयर इंडिया के दो क्रू मेंबर कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं.

बता दें कि देश में लॉकडाउन के बीच बस, ट्रेन सेवा शुरू होने के बाद 25 मई से घरेलू उड़ान सेवा भी शुरू हो गई है. करीब दो महीने तक उड़ानें निलंबित रहने के बाद घरेलू विमानों का संचालन देशभर में बहाल हो गया है. इस दौरान यात्रियों में उत्साह तो दिख रहा है लेकिन कोरोना को लेकर उनके मन में डर भी है. गाइडलाइंस के मुताबिक यात्रियों को यात्रा के शुरू होने से 2 घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचना है. केवल वही यात्री एयरपोर्ट टर्मिनल में एंट्री ले पा रहे हैं जिनकी फ्लाइट 4 घंटे बाद या उससे कम समय के भीतर है. डॉमेस्टिक फ्लाइट लेने वाले यात्रियों को सिर्फ ऑनलाइन चेक-इन यानी वेब चेक-इन की ही सुविधा मिल रही है.

 


Related News