Follow us:

मौसम : धार, देवास, गुना, बलाघाट सहित कई जिलो में होगी गरज-चमक के साथ बारिश, इंदौर,भोपाल को करना होगा इंतजार

भोपाल। मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश के 6 जिलों में भारी तो 21 जिलों में गरज-चमक के साथ हल्की बारिश का अलर्ट जारी किया है। गुरुवार सुबह तक बारिश हो सकती है। छिंदवाड़ा, सतना और सीधी में बारिश होने भी लगी है। दरअसल, बंगाल की खाड़ी में मानसून एक्टिविटी बढ़ गई है। अब यह मध्यप्रदेश की ओर ये तेजी से बढ़ रहा है।

यहां तेज बारिश का अलर्ट

उमरिया, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा और सिवनी।

यहां गरज-चमक और हल्की बारिश

रीवा, सागर, नर्मदापुरम, अनूपपुर, शहडोल, डिंडोरी, मंडला, बालाघाट, रायसेन, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, बड़वानी, अलीराजपुर, धार, देवास, गुना, अशोकनगर, शिवपुरी, ग्वालियर और श्योपुरकलां में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम बारिश और गरज-चमक हो सकती है। भोपाल में कहीं-कहीं हल्की बूंदाबांदी हो सकती है।

पाकिस्तानी हवाओं के कारण अटका मानसून
मौसम वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह ने बताया कि अरब सागर में मानसून एक्टिव है। वह आगे बढ़ रहा है, लेकिन पाकिस्तान से लगातार हवाएं आने के कारण यह मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के बॉर्डर पर अटक गया है। पाकिस्तान से हवाओं का एक और दौर बुधवार से मध्यप्रदेश में आ जाएगा। अभी एक सिस्टम पहले से एक्टिव है, ऐसे में अरब सागर से आ रहा मानसून आगे नहीं बढ़ पा रहा है।

इसलिए जबलपुर से एंट्री
अब तक बंगाल की खाड़ी में मानसून की एक्टिविटी धीमी थी, लेकिन मंगलवार से इसने भी रफ्तार पकड़ ली। अब यह आगे बढ़ने लगा है। इस कारण जबलपुर और उससे लगे शहरों जैसे छिंदवाड़ा और सतना में मंगलवार और बुधवार को हल्की बारिश हुई। एक ट्रफ लाइन भी बन रही है। इससे अगले दो दिन में यहां पर तेज बारिश हो सकती है। अब मानसून की एंट्री लगभग जबलपुर से हो सकती है।

भोपाल और इंदौर में बस थोड़ा इंतजार
भोपाल में सोमवार शाम बारिश हुई थी, लेकिन मंगलवार को सिर्फ बादल ही रहे। हवाएं चलने से तपिश कम हुई, लेकिन उमस ने लोगों को परेशान किया। मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि भोपाल में मानसून की एंट्री 18 जून तक हो सकती है। इंदौर और उसके आसपास के इलाकों में दो दिन बाद ही बारिश के आसार बन रहे हैं। अगर अरब सागर से मानसून आता भी है, तो वह वहीं तक सीमित रहेगा। आगे बढ़ने के लिए उसे पाकिस्तान से आ रही हवाओं के थमने का इंतजार करना होगा।

 

Related News