Follow us:

लॉकडाउन के कारण आराम मिलना भारतीय क्रिकेटरों के लिए अच्छा रहा : रवि शास्ञी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर में खेल गतिविधियां बद हैं। भारत में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया है जिसकी वजह से भारतीय क्रिकेटर भी घरों पर परिजनों के साथ समय बिता रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के चीफ कोच Ravi Shastri ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से यह आराम टीम इंडिया के खिलाड़ियों के लिए अच्छा है।  

Ravi Shastri ने कहा कि इस आराम को आप बुरा नहीं कह सकते क्योंकि न्यूजीलैंड दौरे के अंत में खिलाड़ियों की मानसिक थकान, शारीरिक फिटनेस दिखने लगी थी और चोट उजागर होने लगी थी। वैसे भी भारतीय खिलाड़ियों ने पिछले वर्ष वर्ल्ड कप के लिए रवाना होने के बाद से मुश्किल से 10-11 दिन ही घर पर बिताए थे।

माइकल आथर्टन और नासिर हुसैन के साथ स्काय स्पोर्ट्स पॉडकास्ट में चर्चा करते हुए Ravi Shastri ने कहा, पिछले 10 महीने के व्यस्त शेड्यूल का खिलाड़ियों पर असर दिखने लगा था। कई खिलाड़ी तीनों फॉर्मेट्स में खेलते हैं इसलिए आप उनके वर्कलोड का अंदाजा लगा सकते हो। न्यूजीलैंड दौरे पर हमने 5 टी20 मैच, तीन इंटरनेशनल वनडे और दो टेस्ट मैच खेले, इसके चलते खिलाड़ियों को आराम की जरूरत थी।

कोरोना वायरस से लड़ने आगे आया BCCI, दान किए 51 करोड़ रुपए
कोरोना वायरस से लड़ने आगे आया BCCI, दान किए 51 करोड़ रुपए
यह भी पढ़ें

उन्होंने कहा, वर्ल्ड कप के तुरंत बाद टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज का दौरा किया। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज खेली और फिर न्यूजीलैंड का दौरा किया। वैसे भी टी20 फॉर्मेट के बाद अचानक टेस्ट फॉर्मेट के लिए तालमेल बिठाना क्रिकेटरों के लिए मुश्किल भरा होता है। हमनें इस दौरान काफी टूर किए। इसलिए मैं कहूंगा कि यह आराम मिलना हमारे खिलाड़ियों के लिए अच्छा रहा। खिलाड़ी इस आराम के दौरान अपनी एनर्जी वापस हासिल करेंगे और नए जोश के साथ मैदान में उतरेंगे। उन्होंने कहा कि जब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज बीच में ही रद्द हुई तो खिलाड़ियों को अंदाजा हो गया था कि ऐसा कुछ होने वाला है।