Follow us:

शहडोल जिला अस्पताल में 48 घंटे में चार बच्चों की मौत, अब तक 12 बच्चों की जा चुकी है जान

शहडोल। शहडोल के जिला अस्पताल में पिछले 48 घंटे में चार बच्‍चों की मौत हो गई। जिससे जिला अस्पताल के एसएनसीयू और पीआइसीयू में मौत का आंंकड़ा 12 पहुंंच गया है। चार बच्चों की मौत में एक प्री मेेच्योर बच्चा भी शामिल है। जिला अस्पताल में पिछले कुछ दिनों से नवजात बच्चों की मौत हो रही है।

बताया गया है कि 6 माह में ही एक महिला की डिलेवरी हो गई थी। इलाज के दौरान बच्‍चे की मौत हो गई। इसी तरह डिंडौरी की 11 दिन की सरोज सरिया की निमोनिया से मौत हो गई। पाली के 7 माह के राजकुमार कोल की निमोनिया और ब्रेन फीवर से मौत हुई। जबकि पोंगरी गांव की एक माह 6 दिन की रितिका जायसवाल की हाइपोथायरायडिज्म निमोनिया से मौत हुई। अभी अस्पताल के एसएनसीयू में 22 और पीआइसीयू में 9 बच्चे भर्ती हैं।

पूूूर्व सीएम कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा के अनुसार इस मामले को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ जी ने गंभीरता से लेते हुए कांग्रेस का एक जांच दल मौक़े पर भेजने का निर्णय लिया है। शहडोल में मासूम बच्चों की मौत का आंकड़ा निरंतर बढ़ता जा रहा है। अभी तक 12 मासूम बच्चों की मौत हो चुकी है। 5 दिन पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा की गयी समीक्षा बैठक व कड़े निर्देशों के बावजूद भी बच्चों की मौत का आंकड़ा निरंतर बढ़ता जा रहा है।सरकार का रवैया इस मामले में उदासीन बना हुआ है। वि‍ शेष जांच दल के नाम पर इस मामले में सिर्फ़ खानापूर्ति व लीपापोती की गयी।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के निर्देश पर कांग्रेस उपाध्यक्ष चन्द्रप्रभाष शेखर व राजीव सिंह ने कांग्रेस के एक चार सदस्यीय सदस्य जाँच दल का गठन कर उन्हें मौके पर जाने के निर्देश दिए हैं। इस जांच दल में विधायक सुनील सराफ , विधायक विजय राघवेंद्र सिंह , अनूपपुर के कांग्रेस अध्यक्ष जयप्रकाश अग्रवाल , शहडोल कांग्रेस अध्यक्ष आजाद बहादुर सिंह शामिल होंगे। यह जांच दल मौके पर जाकर पीड़ित पक्ष से चर्चा कर अपनी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस कमेटी को सौंपेगा।

 

Related News