Follow us:

शहडोल जिले में जहरीले कीड़े के काटने से एक ही परिवार के तीन लोगो की मौत

जैतपुर पुलिस थाने के प्रभारी सुदीप सोनी ने सोमवार को बताया कि यह घटना शनिवार-रविवार की दरमियानी रात को कोठी ताल गांव (Kothi Tal Village) में उस समय हुई जब लाल पालिया (35) और उसके बच्चे अपने घर में सो रहे थे.

शहडोल। मध्यप्रदेश के शहडोल जिले (Shahdol District) में जहरीले कीड़े (Poisonous Insects) के काटने से एक व्यक्ति और उसके नाबालिग बेटे एवं बेटी की मौत हो गई. जैतपुर पुलिस थाने के प्रभारी सुदीप सोनी ने सोमवार को बताया कि यह घटना शनिवार-रविवार की दरमियानी रात को कोठी ताल गांव (Kothi Tal Village) में उस समय हुई जब लाल पालिया (35) और उसके बच्चे अपने घर में सो रहे थे. उन्होंने बताया कि आधी रात के बाद लाला पालिया ने अचानक शरीर में तेज दर्द की शिकायत की. उसके परिवार के लोग उसे जैतपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले गए जहां रविवार सुबह उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

उन्होंने बताया कि लाला पालिया का बेटा संजय (05) और बेटी शशि (03) भी सुबह मृत पाए गए. अधिकारी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पुष्टि हुई है कि उनकी मौत किसी जहरीले कीड़े की काटने से हुई है. उन्होंने बताया कि पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है.

महिला का पति बार-बार गुहार लगाता रहा
बता दें कि बीते मई महीने में मध्य प्रदेश के रीवा जिले में सांप काटने से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी. मऊगंज थाना क्षेत्र के सुर सुरवही गांव की रहने वाली श्यामवती जायसवाल को सांप ने काट लिया, जिसके बाद उसे मऊगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया. यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पोस्टमॉर्टम के बाद जब परिजनों को डेड बॉडी सौंपी गई, तो पति ने शव वाहन की बात की. इस पर अस्पताल की तरफ से कहा गया कि शव वाहन की कमी है. महिला के पति के बार-बार गुहार लगाने के बाद भी शव वाहन नहीं दिया गया. आखिरकार वह मोटरसाइकिल पर लकड़ी की तरह शव को बांधकर श्मशान घाट की ओर चल पड़ा था. वहीं, इस घटना से 2 दिन पहले भी मऊगंज से ऐसी ही तस्वीर सामने आई थी. इसके बाद भी हंगामा हुआ था.

Related News