Follow us:

फ्रांस में कोरोना की तीसरी लहर, पेरिस समेत कई इलाकों में एक महीने का लॉकडाउन

नई दिल्ली। भारत समेत दुनिया के कई देशों में कोरोना का कहर देखा जा रहा है, जिसको देखते हुए कई देशों ने लॉकडाउन लगाने की घोषणा कर दी है। फ्रांस में भी कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए प्रधानमंत्री जीन जीन कैस्टेक्स ने सीमित लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है।

प्रधान मंत्री जीन जीन कैस्टेक्स ने गुरुवार को बढ़ते COVID-19 मामलों के मद्देनजर पेरिस समेत देश के 16 क्षेत्रों में एक महीने का लॉकडाउन लगाया है। सीएनएन ने बताया कि नया लॉकडाउन शुक्रवार आधी रात से चार सप्ताह तक चलने वाला है, लेकिन यह पिछले साल मार्च और नवंबर में लगाए गए उपायों की तुलना में कम प्रतिबंधात्मक हैं। इस दौरान स्कूस और जरूरी दुकाने खुली रहेंगी।

पीएम ने कहा, "यह स्पष्ट रूप से लोगों को बाहर रहने की अनुमति देने के बारे में है, लेकिन दोस्तों के घर जाकर पार्टी करने या सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क भूल कर बहुत से लोगों से मिलने के लिए नहीं हैं।

नए दिशानिर्देशों के अनुसार, लोगों को घर से काम करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा और 'अनुमोदन प्रमाणपत्र' होने के बाद ही उन्हें बाहर घूमने या व्यायाम करने की अनुमति दी जाएगी। वे अपने घर से 10 किमी से अधिक दूर नहीं जा सकते। रात के समय कर्फ्यू - वर्तमान में शाम 6 बजे से - नए उपायों के लागू होने पर शाम 7 बजे तक बढ़ाया जाएगा।

स्कूल और विश्वविद्यालय खुले रहेंगे। आवश्यक व्यवसाय खुले रहेंगे - और इनमें अब पुस्तक की दुकानें और संगीत की दुकानें शामिल होंगी। इससे पहले, कैस्टेक्स ने मंगलवार को कहा कि देश ने COVID -19 संक्रमणों की 'एक तरह की तीसरी लहर' में प्रवेश किया है, इस तरह के मामलों के बीच वायरस के कई प्रकारों ने राष्ट्र को प्रभावित किया है।

कैस्टेक्स ने सांसदों को संबोधित करते हुए कहा, "महामारी ओवरटाइम खेल रही है। जिसे हम तीसरी लहर के एक रूप की तरह दिखते हैं।" जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी (JHU) के अनुसार, फ्रांस ने अब तक कुल 4,241,959 संक्रमण और 91,833 मौतें दर्ज की हैं।

Related News