Follow us:

CM नीतीश कुमार का बड़ा बयान- परिवार चाहे तो हो सकती है CBI जांच

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बिहार पुलिस की ताज गति पकड़ रही है। बिहार पुलिस को सुशांत की गर्लफ्रेंड Rhea Chakraborty के खिलाफ महत्वपूर्ण सबूत मिले हैं। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बिहार के मुख्यमंत्री Nitish Kumar ने कहा कि यदि सुशांत के पिता CBI जांच की मांग करते हैं तो सरकार इस दिशा में आगे बढ़ सकती है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह बिहार का मामला नहीं है, इसलिए राज्य सरकार अपनी तरफ से कुछ नहीं कह सकती है। सुशांत के पिता यदि CBI जांच चाहते हैं तो हम इस मामले को आगे बढ़ाएंगे। जनता दल यूनाइटेड के वरिष्ठ नेता और राज्य के मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि सरकार चाहती है कि सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की सच्चाई सामने आए और उनके परिवार को न्याय मिले। उन्होंने कहा कि यदि सुशांत का परिवार सीबीआई जांच की मांग करेगा तो सरकार इसकी अनुशंसा करने में देर नहीं करेगी।

जांच के काम में मुंबई पुलिस के असहयोग को लेकर बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने महाराष्ट्र के डीजीपी से मदद के लिए बात की। इस बीच रिया चक्रवर्ती अपने घर से लापता है और उनका मोबाइल बंद आ रहा है। सूत्रों के अनुसार इसके चलते बिहार पुलिस उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर सकती हैं।

सुशांत के पूर्व बॉडीगार्ड ने बताया कि सुशांत सर जिंदादिल इंसान थे। एक समय ऐसा आया था जब उनकी तबीयत खराब रहने लगी थी, लेकिन उस दौरान भी रिया चक्रवर्ती अपने परिजनों के साथ छत पर पार्टियां करती थी। इस बॉडीगार्ड ने बताया- बीमारी की वजह से सुशांत सर (SSR) अपने कमरे में सोए रहते थे, इस दौरान रिया मैडम अपने घरवालों को बुलाकर उनके साथ पार्टियां करती थी। कई बार उनके पिता भी घर आए थे। सुशांत को किसी ने मिलने नहीं दिया जाता था, जब भी कोई उनका बॉडीगार्ड उनसे मिलने की इच्छा जाहिर करता तो यह मैसेज आता कि अभी सर सो रहे हैं।

रिया चक्रवर्ती लापता, लुकआउट नोटिस जारी कर सकती है बिहार पुलिस:

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बिहार पुलिस की जांच तेजी से आगे बढ़ रही है और कुछ महत्वपूर्ण सबूत भी उनके हाथ लगे हैं। इस बीच मुंबई पुलिस के असहयोगात्मक रवैये की वजह से बिहार पुलिस को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। मुंबई पुलिस ने शुक्रवार को बिहार पुलिस के अधिकारियों को मीडियो से चर्चा नहीं करने दी। इस मामले को लेकर पटना में बिहार पुलिस के आला अधिकारियों की बैठक हुई। इसके बाद बिहार के डीजीपी से सीधे महाराष्ट्र के डीजीपी से चर्चा कर मदद मांगी।

Related News