Follow us:

डॉनल्ड ट्रंप के बदले सुर, हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा भेजने के लिए भारत की तारीफ की

नई दिल्ली।  एक दिन पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भारत के लिए कहा था कि अगर वो अमेरिका को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा का निर्यात नहीं करेगा तो उस पर बदले की कार्रवाई की जा सकती है. अब जब भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात पर मंजूरी दे दी है तो अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सुर बदल गए हैं. उन्होंने भारत के पक्ष में नया बयान दिया है.

डॉनल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए कहा है कि मोदी महान हैं, वह बहुत अच्छे नेता हैं और मैंने पीएम मोदी से बात की है. मोदी ने हमारी इस समय में मदद की है. भारत से हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की 29 मिलियन डोज खरीदी गई है. हम विदेश से कई दवाइयां मंगा रहे हैं और इनमें भारत में बनने वाली हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की दवा भी शामिल है.

अमेरिकी न्यूज़ चैनल फॉक्स न्यूज से बात करते हुए ट्रंप ने कहा कि भारत ने अपने लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की दवा रोकी थी लेकिन जब अमेरिका ने इस दवा के लिए मांग की तो उन्होंने समय पर मदद की. भारत से अभी बहुत अच्छी चीजें आनी बाकी हैं.

ट्रंप ने ये भी कहा कि जब मैंने पीएम मोदी से पूछा कि क्या वो दवाई देंगे तो उन्होंने शानदार तरीके से बताया कि भारत ने अपनी जरूरत के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की दवा के निर्यात पर बैन लगाया है, वो सही थे. अपनी जरूरत के बाद उन्होंने अमेरिका के लिए दवा को भेजने की मंजूरी दी.

ट्रंप ने भारत को दी थी जवाबी कार्रवाई की धमकी
अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भारत को धमकी दी थी कि अगर वो मलेरिया के इलाज में काम आने वाली दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को अमेरिका को नहीं भेजेगा तो उसे जवाबी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. दरअसल भारत ने अमेरिका को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात के लिए मंजूरी देने से इंकार कर दिया था जिस पर ट्रंप ने ये कहा.

भारत ने दी हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात को मंजूरी
भारत ने कल हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात को मंजूरी दी थी और साथ ही कहा था कि पड़ोसी देशों को इस दवा को भेजा सकता है. इसके साथ ही अमेरिका के लिए भी इस दवा को भेजे जाने को मंजूरी दे दी थी.

Related News