Follow us:

WhatsApp Groups में कोई भी अन्जान शख्स कर सकता है घुसपैठ, गूगल सर्च पर मौजूद है आपकी हर प्राइवेट चैट

मुंबई।  WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी से उठा हंगामा अभी चल ही रहा है कि इस सोशल मैसेजिंग ऐप की एक और बड़ी खामी उजागर हो गई। दावा किया गया है कि हर WhatsApp Group Chat Invite Link आसानी से गूगल सर्च पर उपलब्ध हैं। ऐसी लिंक को हासिल कर कोई भी अन्जान शख्स यूजर के WhatsApp Group का हिस्सा बन सकता है, वहां की WhatsApp Chat और प्रोफाइल फोटो समेत ग्रुप से जुड़ी पूरी जानकारी हासिल कर सकता है। WhatsApp पर 2019 में सबसे पहले यह खामी उजागर हुई थी, तब इसे सुधार लिया गया था, लेकिन एक बार फिर यह समस्या आ गई है, जिसके कारण हर WhatsApp यूजर की गोपनीयता खतरे में पड़ गई है। इंटरनेट सिक्यॉरिटी रिसर्चर राजशेखर ने अपने ट्वीट में यह दावा किया गया है। उनका कहना है कि WhatsApp ग्रुप की हर इनवाइट लिंक Google सर्च पर उपलब्ध है। ऐसे मामले सामने आए हैं जहां प्राइवेट ग्रुप में अन्जान शख्स की घुसपैठ देखी गई।

राजशेखर के दावे पर मीडिया समूहों के साथ ही कई जानकारों ने पड़ताल की और पाया कि WhatsApp को लेकर किया गया दावा बिल्कुल सही है। जानकारी के मुताबिक, WhatsApp Group Chats इंडेक्स होने पर WhatsApp ग्रुप लिंक को वेब पर सर्च किया जा सकता है। इन लिंक पर क्लिक करके कोई भी प्रोफाइल फोटो, फोन नंबर जैसे जानकारी हासिल कर सकता है। यदि ध्यान न दिया जाए तो अन्जान लोग लंबे समय तक वॉट्सऐप ग्रुप में रह सकते हैं। चिंता जनक बात यह भी है कि इन घुसपैठियों को WhatsApp Group से हटा दिया जाए तो भी उनके फोन नम्बर्स वहां मौजूद रहते हैं।

No description available.

Image

 

पढ़िए क्या है WhatsApp की सफाई

मामला सामने आने के बाद WhatsApp ने सफाई दी है। कंपनी की ओर से कहा गया है कि मार्च 2020 के बाद से व्हाट्सएप ने सभी लिंक पेजों के लिए noindex टैग लागू कर दिया है और इस तरह ये पेज Google की इंडेक्सिंग से बाहर हैं। हमने इन चैट को इंडेक्स नहीं करने के लिए Google को अपनी प्रतिक्रिया दी है। वहीं यह व्यवस्था भी लागू है कि जब भी कोई नया यूजर किसी वॉट्सऐप ग्रुप में शामिल होता है तो वहां सभी यूजर्स को नोटिफिकेशन दिखाई देता है। ग्रुप एडमिन इसे देख सकता है और यदि कोई बाहरी शख्स ग्रुप में घुस आया है तो उसे बाहर निकालकर इनवाइट लिंक बदल सकता है। यूजर्स से अपील है कि वे अपनी ग्रुप लिंक को गूगल पर शेयर न करें।